इंदौर से BJP ने घोषित किया उम्मीदवार, सुमित्रा महाजन बोलीं- मेरी भूमिका बदल गई

0
214

इंदौर
इंदौर लोकसभा सीट से कड़ी माथापच्ची के बाद बीजेपी ने अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। मध्य प्रदेश में ताई और भाई की रस्सा-कसी के बीच बीजेपी ने शंकर लालवानी पर विश्वास जताया है। इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्‍यक्ष रहे लालवानी का मुकाबला कांग्रेस प्रत्‍याशी पंकज संघवी से होगा। रविवार देर शाम नाम की घोषणा होने बाद इस सीट की चुनावी राजनीति की डगर पर सुमित्रा महाजन का 30 साल लंबा सफर औपचारिक रूप से खत्म माना जा रहा है। हालांकि, महाजन का कहना है कि वे अभी भी चुनावी परिदृश्य में ही हैं, लेकिन उनकी भूमिका बदल गई है। 
 
महाजन ने कहा, 'मैं तो पिछले कई दिन से इंदौर क्षेत्र में भाजपा की चुनावी बैठकों में शामिल हो रही हूं। मैं अब भी चुनावी परिदृश्य में ही हूं और आगे भी रहूंगी। हालांकि, अब मेरी भूमिका बदल गई है।' इस बीच, अपने नाम की घोषणा के बाद लालवानी सुमित्रा महाजन के घर पहुंचे और इस सीट की निवर्तमान सांसद सुमित्रा महाजन से आशीर्वाद लिया।

1993 में विधानसभा क्षेत्र-4 से लालवानी को बीजेपी अध्यक्ष बनाया गया था। 1996 में हुए नगर निगम चुनाव में उन्हें जयरामपुर वार्ड से टिकट मिला था। इसमें उन्होंने अपने भाई और कांग्रेस प्रत्याशी प्रकाश लालवानी को हराया था और पार्षद बने थे।

लालवानी ने नगर निगम में सभापति जैसे महत्वपूर्ण पद का कार्यभार संभाला। वे तीन बार पार्षद रहे. कुछ समय बाद पार्टी ने उन्हें नगर अध्यक्ष बना दिया।नगर अध्यक्ष के पद पर रहते हुए ही उन्हें इंदौर नगर निगम प्राधिकरण की जिम्मेदारी दी गई थीॉ। सिंधी समाज से आने वाले शंकर लालवानी सुमित्रा महाजन और शिवराज सिंह चौहान के करीबी माने जाते हैं। वे आईडीए के अध्यक्ष रह चुके हैं. इसके अलावा लालवानी बीजेपी के जिलाध्यक्ष रह चुके हैं।