एयर कंडीशनर के कंप्रेशर में हुआ ब्लास्ट, 2 मैकेनिक की दर्दनाक मौत

0
10

गुरुग्राम

गुरूग्राम में हुए एक दर्दनाक हादसे में दो मैकेनिक की जान चली गई. दाेनों ही मैकेनिक बुधवार को एक निजी फ्लैट में एयर कंडीशनर मेंटिनेंस की काम करने गए थे.  इस दौरान एयर कंडीशनर के कंप्रेशर में ब्लास्ट हो गया.  

साइबर सिटी के सेक्टर-92 के एक फ्लैट में कल शाम तकरीबन 4 बजे ये हादसा हुआ. एयर कंडीशनर की सर्विस करने गए मैकेनिक ने जैसे ही एयर कंडीशनर के कंप्रेशर को खोला, वैसे ही उसमें जोरदार ब्लास्ट हो गया. जिसके चलते दोनों मैकेनिक इसकी जद में आ गए. दोनों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां इलाज के दौरान दोनों की दर्दनाक मौत हो गई.

इस हादसे में फ्लैट का मालिक भी बुरी तरह से घायल हो गया. फ्लैट के मालिक को मानेसर के पास के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

जानकारी के अनुसार  मैकेनिकों के नाम रवि और महेश हैं. दोनों राजस्थान के रहने वाले थे और यहां किसी निजी कंपनी में एयर कंडीशनर सर्विसिंग मैकेनिक के तौर पर काम करते थे.

क्यों होता है एयर कंडीशनर के कंप्रेशर में ब्लास्ट?

आखिर एयर कंडीशनर के कंप्रेशर में ब्लास्ट होता क्यों है?  इस सवाल पर बीते 20 साल से एयर कंडीशनर रिपेयरिंग का काम कर रहे संजय शर्मा बताते हैं कि एयर कंडीशनर में जब  में गैस खत्म हो जाती है तब कूलिंग अक्सर कम या बिल्कुल खत्म सी हो जाती है. एयर कंडीशनर की  सर्विसिंग के दौरान गैस की कमी को दूर करने के लिए उसमें रीफिलिंग की जाती है. संजय शर्मा बताते हैं कि आजकल की कंपनियों ने रीफिल की जाने वाली गैस की क्वालिटी चेंज कर दी है.  रीफिल की जाने वाली गैस की खराब क्वालिटी कंप्रेशर फटने की बड़ी वजह हो सकती है.

हालांकि एयर कंडीशनर में इतने जोरदार ब्लास्ट का यह संभवतः पहला मामला ही है.  लेकिन आज के इस झुलसती गर्मी के दौर में एयर कंडीशनर मेट्रो शहरों में लोगों की प्रमुख जरूरत बनती जा रही है.

ऐसे में एयर कंडीशनर से जुड़े तकनीकी मामलों पर गंभीरता से ध्यान दिए जाने की जरूरत है. अगर ऐसे मामलों पर गंभीरता से ध्यान नही दिया गया तो आने वाले वक्त में ऐसे और भी हादसे संभव है.