कांग्रेस विधायक की दो टूक, महाराज बाड़े का विकास वहां के व्यापारियों से चर्चा के बाद हो

0
19

ग्वालियर
जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक में आज उस समय माहौल गर्मा गया जब ग्वालियर दक्षिण विधानसभा के कांग्रेस विधायक ने महाराज बाड़े के विकास को लेकर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि यहां विकास को अमलीजामा यहां के व्यापारियों से चर्चा के बाद ही पहनाया जाए।

कलेक्ट्रट सभागार में सांसद विवेक नारायण शेजवलकर की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा)  की बैठक बुलाई गयी थी। जिसमें मनरेगा की समीक्षा, पं. दीनदयाल ग्रामीण आजीविका मिशन एवं ग्रामीण कौशल योजना,  डीडीयूजीकेवाई की समीक्षा, प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक योजना की समीक्षा समेत प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण की समीक्षा और अमृत योजना, स्मार्ट सिटी मिशन  सहित कुल14 बिन्दुओं पर चर्चा होनी थी। बैठक में जैसे ही स्मार्ट सिटी पर चर्चा हुई और महाराज बाड़े का विषय आया विधायक प्रवीण पाठक ने आपत्ति दर्ज कराई। प्रवीण पाठक का कहना है कि जिस तरह से प्लानिंग की गयी है, उससे लोगों को नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि हम जिन लोगों के लिए महाराज बाड़ा व्यवस्थित और स्मार्ट बना रहे हैं हमें उन व्यापारियों और स्थानीय लोगों से चर्चा  करने के बाद ही इसपर काम करना चाहिए।

सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि ग्वालियर विकास के लिए स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत किए जा रहे कार्यों को तेजी के साथ किया जाए। शहर में सीवर, पानी एवं उद्यानों के विकास के लिए अमृत परियोजना के तहत किए जा रहे कार्यों को गति प्रदान की जाए। प्रोजेक्ट के तहत निर्धारित समय-सीमा में कार्य पूर्ण हो, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने चंबल नदी से पानी लाने की योजना की स्वीकृति की दिशा में भी प्रभावी प्रयास करने को कहा। शासन स्तर से जो स्वीकृति अपेक्षित है, उसे प्राप्त करने के लिए कलेक्टर पहल करें। सांसद श्री शेजवलकर ने बैठक में यह भी कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्मित आवास जल्द से जल्द हितग्राहियों को मिलें, इसके प्रयास किए जाएं।

योजना का अधिक से अधिक लोगों को लाभ दिलाने के लिये व्यापक प्रचार-प्रसार तथा बैंकों के माध्यम से ऋण मेलों का आयोजन भी किया जाए। आवासों के लिए मार्केटिंग का कार्य भी एजेन्सी नियुक्त कर किया जाना चाहिए। उन्होंने शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अधिक से अधिक लोगों को आवास उपलब्ध कराने की दिशा में विशेष प्रयास करने पर जोर दिया। कलेक्टर अनुराग चौधरी ने विकास बैठक में विभिन्न विभागों द्वारा किए जा रहे कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।