कानून-व्यवस्था को लेकर योगी ने की समीक्षा बैठक, सभी अधिकारियों के फोन रखवाए बाहर

0
23

 
लखनऊ

 उत्तर प्रदेश में लगातार बिगड़ रही कानून-व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सख्त नजर आ रहे हैं। इसी के चलते उन्होंने आज लखनऊ के लोकभवन में सयुंक्त बैठक की। बैठक में मुख्य सचिव, डीजीपी, राजस्व परिषद के अध्यक्ष, प्रमुख सचिव और जिलों के अफसर भी मौजूद रहें। 28 साल में पहली बार इस तरीके से डीएम और एसपी की सयुंक्त बैठक सीएम ने ली है। बता दें कि, समीक्षा बैठक से पहले अफसरों के मोबाइल फोन को बाहर जमा करवा लिया गया था।
 समीक्षा बैठक के बाद यूपी के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि सीएम योगी ने शांतिपूर्ण चुनाव निपटाने के लिए पुलिस को बधाई दी। साथ ही उन्होंने पुलिस डिपार्टमेंट के कार्यों की सराहना की। इस दौरान सीएम योगी ने निर्देश दिए हैं कि डीएम प्रतिदिन 1 घंटा फील्ड में निकलकर निरीक्षण करें। जिसके चलते 15 से 20 जून तक बड़े अधिकारी निरीक्षण करेंगे। जिले के बड़े अधिकारी अलग-अलग जिलों में जाएंगे। यहां वह डिस्टिक अस्पताल, तहसील और गांव में जाकर भौतिक सत्यापन करेंगे। वहीं 20 जून को सभी चीफ सेक्रेटरी के माध्यम से सीएम को रिपोर्ट सौपेंगे। 20 जून के बाद सीएम खुद मंडलों का निरीक्षण करेंगे।
 उन्होंने बताया कि सीएम ने निर्देश दिया है कि 'स्वच्छ भारत मिशन' में विशेष रूप से और ओडीएफ का जो सर्वे है, 30 जून तक सारे कार्य पूर्ण कर लिए जाए। 'आयुष्मान भारत' के लाभार्थियों को प्लास्टिक के कार्ड दिए जाने थे, लेकिन चुनाव के चलते नहीं दिए जा सके। अब उन्हें निर्देशित किया गया है कि कैंप लगाकर लाभार्थियों को प्लास्टिक के कार्ड उपलब्ध कराएं। अगले 1 महीने के अंदर लाभार्थियों को इसका लाभ दिलाया जाए।
 साथ ही सीएम ने जनता से बेहतर संवाद के दिए निर्देश हैं। हर दिन डीएम और एसपी को जनता से मिलने का आदेश दिया गया है। अगर किसी के साथ सवांदहीनता का मामला सामने आता है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि सीएम योगी कल स्वास्थ्य विभाग तो परसो शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक करेंगे।