किसान ने की आत्महत्या,शव रखकर चक्काजाम,जमीनी विवाद के चलते की आत्महत्या

0
271

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के गृहनगर  और सागर जिले के गढाकोटा में एक किसान ने  फांसी लगाकर  आत्महत्या कर ली । किसान  का काँग्रेस नेता के भाईयो से जमीन को लेकर विवाद था । इससे त्रस्त होकर  किसान नेआत्महत्या की ।  इस घटना से नाराज लोगो ने किया सागर  दमोह जबलपुर मार्ग  पर शव रखकर चक्काजाम किया । इस दौरान मृतक किसान के नाती ने केरोसिन तेल डालकर आत्मदाह की कोशिश भी की ।प्रशासन द्वारा कार्यवाही  के आश्वासन के बाद  आक्रोश शांत हुआ।

इस मामले में नेता प्रतिपक्ष भार्गव के खिलाफ विधानसभा का चुनाव लड़ने वाले कांग्रेस नेता कमलेश साहू के भाई दिनेश साहू और चार लोगों पर जमीन हड़पने का आरोप परिजनों ने लगाया  है । इनके नाम भी किसान ने सुसाईड नोट में  लिखे है । ।मौके पर थाना प्रभारी, तहशीलदार चक्काजाम में पहुचे । मौके पर   नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के पुत्र और भाजपा नेता अभिषेक भार्गव भी मौके पर पहुचे और न्याय दिलाने की बात कही ।

गढाकोटा थाना क्षेत्र के  चनोआ निवासी 72 वर्षीय किसान नारायण कुर्मी ने अपने घर मे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली । उस्की जमीन पर  रहली गढाकोटा विंधानसभा क्षेत्र से  हाल ही में चुनाव लड़ने वाले काँग्रेस प्रत्याशी कमलेश साहू के भाई दिनेश साहू से विवाद था ।इससे तांग आकर नारायण ने आत्महत्या कर ली । इस घटना से नाराज लोगो ने शव रखकर चक्काजाम किया । मौके पर पहुचे asp विक्रम सिंह ने सुसाईड नोट में नाम और बयानों के बाद दोषियों पर एफआईआर दर्ज करने और पुलिस की लापरवाही की जांच कर कार्यवाही के समझाईस और कार्यवाही के आश्वासन के बाद मामला निपटा।

नारायण कुर्मी की मौत के मामले में गत विधानसभा चुनावों में रहली विधानसभा से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे कमलेश साहू का कहना है कि इस मामले में सूक्ष्मता से जांच होनी चाहिए तथा जो सुसाइड नोट दिखाया जा रहा है उसकी भी जांच होनी चाहिए कि वह वास्तव में मृतक ने लिखा है कि नहीं जिस जगह की बात की जा रही है वह मेरे भाई के नाम पर नहीं है मृतक से मेरे भाई का दूर-दूर तक किसी भी प्रकार का कोई संबंध नहीं है कमलेश साहू ने कहा कि यदि मामला सही है तो चाहे कोई भी हो उस पर एफ आई आर दर्ज होनी चाहिए परंतु यदि झूठा मामला बनाया गया तो वह इसका पुरजोर विरोध करेंगे