केरल के इसी घर में हुई साइनाइड सीरियल किलिंग, जांच में छूट रहा पसीना

0
7

 कोझिकोड (केरल) 
 केरल के साइनाइड सीरियल किलिंग केस इतना जटिल है कि इसकी जांच में पुलिस अफसरों के पसीने छूट रहे हैं। केरल पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने शनिवार को स्वीकार किया कि साइनाइड सीरियल किलर जॉली अम्मा जोसेफ का मामला बेहद चुनौतीपूर्ण है। उन्होंने कहा ऐसा इसलिए है क्योंकि पहली और छठी कथित हत्या के बीच 14 साल का अंतर है। उन्होंने खुद मुख्य आरोपी जॉली से पूछताछ करने से भी इनकार नहीं किया।

मामले की जांच कर रही पुलिस जांच टीम के साथ लंबी बैठकों के बाद बेहरा ने कहा, “मैं यहां आया हूं क्योंकि यह एक चुनौतीपूर्ण और महत्वपूर्ण मामला है। छह हत्याएं हुई हैं और इसलिए छह अलग-अलग मामले हैं।”

उन्होंने कहा, “मामला चुनौतीपूर्ण इसलिए भी है क्योंकि पहली हत्या 17 साल पहले हुई थी और आखरी तीन साल पहले इसलिए सबूत इकट्ठा करना सबसे महत्वपूर्ण कार्य होगा।” जांच टीम के साथ लंबी बैठकों के बाद उन्होंने मीडिया से बात की। 

सभी रहस्यमय मौतें सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारी टॉम थॉमस के परिवार में हुईं और वैज्ञानिक जांच के लिए पिछले सप्ताह सभी छह शवों को कब्र से खोदकर निकाला गया।

बेहरा ने कहा, “आज हमने एक पर्यवेक्षण दल के साथ छह अलग-अलग टीमों का गठन किया है, जिसमें अब और लोगों को शामिल किया जाएगा। इसमें अधिक फोरेंसिक और कानूनी विशेषज्ञ शामिल किए जाएंगे।”

उन्होंने आगे कहा, “दूसरी मुख्य चुनौती है सबूत इकट्ठा करना। टीम ने अपराध का पता लगाने में सफलता प्राप्त की है।” उन्होंने यह भी कहा कि जांचकतार्ओर्ं के लिए कुछ भी असंभव नहीं है।

बेहरा ने कहा, “अभी कई परीक्षण करने होंगे और मेरा काम टीम की सहायता करना है। फिलहाल जांच टीम का काम आरोपी जॉली अम्मा से ज्यादा से ज्यादा जानकारी हासिल करना है।”