कोविड-19 की प्रभावी रोकथाम के लिए सभी का सहयोग आवश्यक-कलेक्टर

0
90

कोविड-19 से संबंधित जिले में की जा रही व्यवस्थाओं संबंधी बैठक सम्पन्न

पन्ना-कोरोना संकट से निपटने स्वास्थ्य, रोजगार आदि से संबंधित जिला स्तरीय बैठक का आयोजन कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में की गयी है। इस बैठक में जिला अधिकारियों के साथ जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे। कलेक्टर श्री शर्मा ने कोविड-19 के संक्रमण को रोकने एवं प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी।

उन्होंने बताया कि अभी तक जिले में 34 कोरोना पाॅजिटिव मरीज पाए गए हैं। इन मरीजों में 26 मरीज पूर्णतः स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। इनमें 08 मरीज वर्तमान में जिला हेल्थ केयर सेंटर में भर्ती हैं उनका भी स्वास्थ्य ठीक है। उन्होंने बताया कि अभी तक जो भी कोरोना पाॅजिटिव मरीज जिले में पाए गए हैं वे सभी प्रवासी है। विशेषकर दिल्ली से आने वाले लोग कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं। इन आने वाले प्रवासियों पर जिला प्रशासन द्वारा कडाई से निगरानी रखी जा रही है। जिसके कारण जिले में प्रवेश करने के साथ ही प्रवासियों की स्वास्थ्य जांच प्रारंभ कर दी जाती है। यदि कोई भी संदेहास्पद होता है तो उसे क्वारेंटाइन सेंटर में रखकर उसका सैम्पल लेकर परीक्षण किया जाता है। पाॅजिटिव पाए जाने पर उसे कोविड हेल्थ केयर सेंटर में भर्ती कराया जाता है।

उन्होंने बताया कि आगामी 01 जुलाई से 15 जुलाई तक कोविड किल कार्यक्रम चलाया जाता है। इस कार्यक्रम के तहत शत प्रतिशत लोगों का सर्वे कर उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। इस कार्य के लिए 160 दल नियुक्त किए गए हैं। इन दलों में दो मेडिकल स्टाफ रहेंगे। इन दलों के पास स्वास्थ्य जांच करने के उपकरण रहेंगे। जिससे वे प्रत्येक व्यक्ति का बुखार एवं आक्सीजन लेने की क्षमता की जांच आसानी से कर सकेंगे। पूर्व में कई चरणों में सर्वे का कार्य कराया गया है। पूर्व में किए गए सर्वे में सर्वे दल द्वारा व्यक्ति से पूछकर उसके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी संकलित की जाती थी। अब सर्वे के दौरान मेडिकल दल द्वारा आवश्यक उपकरणों से स्वास्थ्य जांच की जाएगी। जो भी व्यक्ति कोरोना के लिए संदेहास्पद होगा उसे क्वारेंटाइन कर सैम्पल लिए जाएंगे। अब सैम्पलों की जांच जिला मुख्यालय में स्थापित ट्रू-नाॅट यूनिट से की जाएगी। प्रतिदिन 40 नमूनों की जांच की जा सकेगी।

कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि इस कार्य को सफलतापूर्वक सम्पन्न कराने के लिए प्रशासन को शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वयं सेवकों की आवश्यकता होगी जो सर्वे करने वाले दलों को सहयोग प्रदान करें। सर्वे और जांच का कार्य पूर्ण हो जाने के उपरांत जिले में कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्तियों की संभावनाएं समाप्त हो जाएगी।

उन्होंने श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि जिले में पूर्व से संबल योजना के तहत श्रमिक पंजीकृत हैं। इसके अलावा रोजगार सेतु पोर्टल पर रोजगार उपलब्ध कराने वाले एवं श्रमिकों का पंजीयन किया जा रहा है। अब तक 26991 से अधिक श्रमिकों का पंजीयन हो चुका है। नियोक्ता के रूप में 212 से अधिक नियोक्ता पंजीकृत हो चुके हैं। अभी तक जिले में 34 हजार श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। इसमें 17 हजार प्रवासी श्रमिक शामिल हैं। जिले में कार्य करा रही सभी एजेन्सियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे प्राथमिकता के आधार पर प्रवासी श्रमिकों को अपने निर्माण कार्यो में रोजगार उपलब्ध कराएं। सम्पन्न हुई बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री मयंक अवस्थी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री बालागुरू के, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री रविराज सिंह यादव, वन मण्डलाधिकारी दक्षिण श्रीमती मीना मिश्रा, वन मण्डलाधिकारी श्री नरेन्द्र सिंह यादव, राष्ट्रीय उद्यान पन्ना उप संचालक श्री ईश्वरचन्द्र, अपर कलेक्टर श्री जे.पी. धुर्वे, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एल.के. तिवारी, पन्ना विधायक श्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह, गुनौर विधायक श्री शिवदयाल बागरी के साथ संबंधित जनप्रतिनिधि एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे।
पन्ना_जीतेगा_कोरोना_हारेगा