खेलो इण्डिया में यूपी के लाल का कमाल

0
26

 लखनऊ 
 प्रयागराज के 15 वर्षीय जिमनास्ट जतिन कनौजिया ने गुवाहाटी में हो रहे खेलो इण्डिया यूथ गेम्स में ऐसा कमाल का प्रदर्शन किया कि पूरा खेल जगत वाह…वाह कर रहा है। जतिन ने अकेले  ही जिमनास्टिक में चार स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक जीता। उन्हें सर्वस्रेष्ठ जिमनास्ट भी घोषित किया गया। अपनी सफलता से गदगद जतिन ने बताया कि वह अपनी इस सफलता से बहुत खुश है। यह उसके खेल जीवन का अब तक का सबसे उम्दा प्रदर्शन है।

जतिन का अण्डर-17 में शनिवार को भी पदक जीतो अभियान जारी रहा। उन्होंने शनिवार की सुबह हारिजेंटल बार और पैरलर बार्स में स्वर्ण पदक जीते। इसके साथ ही उन्होंने अपने स्वर्ण पदकों की संख्या चार कर ली। जतिन ने गुरुवार को आलराउण्ड में एक स्वर्ण पदक जीता था। शुक्रवार को उन्होंने फ्लोर एक्सरसाइज में स्वर्ण पदक जीता। साथ ही पामेल हार्स में रजत और स्टिल रिंग में कांस्य पदक जीते। 

जतिन प्रयागराज के रहने वाले हैं। पिता छोटे लाल कनौजिया की लांड्री है। मां राधा देवी गृहणी हैं। चार भाइयों में सबसे छोटे जतिन ने बताया कि उन्हें बचपन से ही जिमनास्टिक का शौक था। उन्होंने प्रयागराज में ही यूके मिश्रा के जिमनास्टिक सेंटर में जिमनास्टिक सीखी। तीन वर्ष पहले उनका दाखिला खेल विभाग के आगरा जिमनास्टिक हास्टल में हो गया।

वहां उन्होंने खेल विभाग के प्रशिक्षक राम मिलन की देखरेख में अभ्यास करना शुरू कर दिया। वह कई बार राष्ट्रीय स्तर पर स्वर्ण पदक जीते। पिछले आगरा में हुई राष्ट्रीय जूनियर चैंपियनशिप में एक स्वर्ण समेत पांच पदक जीतकर सुर्खियों में आए थे।

जतिन ने बताया कि उसका सपना देश के लिए एशियाई खेल और ओलंपिक में पदक जीतना है। इसके लिए वह खूब मेहनत करना चाहता है। साथ ही वह दो-तीत साल में एक अदद अच्छी नौकरी भी चाहता है जिससे वह अपने परिवार की आर्थिक मदद कर सके।

जतिन का खेलो इण्डिया में प्रदर्शनः

स्वर्णः आल राउण्ड

स्वर्णः फ्लोर एक्सरसाइज

स्वर्णः हारिजेंटल बार्स

स्वर्णः पैरलर बार्स

रजत- पामेल हार्स

कांस्य- स्टिल रिंग्स