गरीब बच्चों को शिक्षा देकर राष्ट्र निर्माण में योगदान दें युवा : आनंदीबेन पटेल

0
6

भदोही                                                                                                                                                                                                             
गलीचों के शहर भदोही में आकर मैं धन्य हो गई। क्योंकि कृषि के बाद देश में सर्वाधिक रोजगार देने का काम कालीन उद्योग करता है। उक्त बातें बुधवार को सूबे की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भदोही के गोपीगंज थाना क्षेत्र के कठौता गांव में स्वर्गीय पंडित जगन्नाथ मिश्र स्मृति द्वार के लोकार्पण के दौरान आयोजित कार्यक्रम में कहीं।

राज्यपाल ने युवाओं से आह्वान किया कि व्यस्त जीवन से कुछ समय निकाल कर गरीब बच्चों को निः शुल्क शिक्षा दें ताकि समृद्धि भारत का निर्माण हो सके। उन्होंने पौधरोपण जल संरक्षण पर भी काम करने का युवा पीढ़ी से आह्वान किया।

राज्यपाल ने कहा कि धन्य है वह माता पिता जो अपने सपूतों को बाल्यकाल से ही ऐसा संस्कार देते हैं। जिससे प्रेरित होकर वे देश की सीमाओं की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने से पीछे नहीं हटते हैं। उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल ब्रिगेडियर बीडी मिश्रा के स्वर्गीय पिता की जमकर तारीफ की। कहा कि पंडिताई के साथ खेती बारी करके उन्होंने अपने तीनों बेटों को अच्छी शिक्षा और संस्कार देने का काम किया। जो आज अरुणाचल प्रदेश के विकास में देखने को मिल रहा है। दुर्गम पहाड़ियों के बीच बीडी मिश्रा जी घोड़े पर सवार होकर वहां पर शिक्षा और विकास की अलख जगाने का काम कर रहे हैं। इस दौरान के अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल ब्रिगेडियर बी सी डी मिश्रा ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।