गोवंश तस्करी करते 25 आरोपियों को पकड़ा, उठक-बैठक लगवाई,जुलूस निकाल थाने लेकर पहुंचे

0
41

खंडवा
ग्राम सांवलीखेड़ा फाटा के पास रविवार तड़के युवाओं ने घेराबंदी कर गोवंश तस्करी कर रहे आठ चार पहिया वाहनों को पकड़ा। वाहनों से 22 मवेशी बरामद किए गए। वहीं 25 आरोपियों को पकड़ा गया। इस दौरान युवाओं ने आरोपियों को सबक भी सिखाया। मामले की सूचना तत्काल खालवा पुलिस को दी। सूचना के बाद भी पुलिस नहीं पहुंची तो ग्रामीणों ने आरोपियों को रस्सी से बांधा और जुलूस के रूप में मुख्य सड़कों से होते हुए थाने लेकर पहुंचे। इस बीच रास्ते में आरोपियों से कान पकड़कर उठक-बैठक लगवाई गई। गोमाता जय के नारे लगवाए। मामले में पुलिस ने वाहन और मवेशी अपने कब्जे में लिए और सभी 25 आरोपियों के खिलाफ गोवंश वध प्रतिषेध अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया। आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया। कोर्ट ने आरोपियों को जेल भेज दिया है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मवेशी देवास जिले के खातेगांव से भरकर महाराष्ट्र ले जा रहे थे।

आरोपी भागने लगे तो रस्सी से बांधा
फरियादी शुभम उर्फ विनोद जायसवाल निवासी खालवा को सूचना मिली थी कि कुछ लोग वाहनों से खालवा के रास्ते गोवंश तस्करी कर रहे हैं। सूचना मिलते ही साथी प्रिंस मेहता, राजेश वर्मा और अन्य के साथ सांवलीखेड़ा फाटा पर पहुंचा। सुबह करीब 5.30 बजे वाहन आते देख उन्हें रोका। एक पिकअप चालक ने भागने की कोशिश की, जिसका पीछा कर पकड़ा। इसके बाद एक के बाद एक आठ चार पहिया वाहनों को रोका गया। इन सभी वाहनों में किसी में दो तो किसी में चार मवेशी भरे हुए थे। युवाओं की कार्रवाई देख मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। मवेशियों को देख लोगों में आक्रोश व्याप्त था। पुलिस को सूचना दी, लेकिन नहीं आई। इसी बीच आरोपियों ने भागने की कोशिश की। जिसे देख लोगों ने आरोपियों को रस्सी से बांध दिया और घेरा बनाकर थाने ले गए।

ये आरोपी हुए गिरफ्तार
कार्रवाई के दौरान आरोपी पुष्पक यादव निवासी राजनी, कालूराम गौंड निवासी छीपाबड़, अकरम खान निवासी छीपाबड़, प्रभू लोहार निवासी खेड़ी, रेहान निवासी खातेगांव, जुबेर निवासी बलवाड़ा, युसूफ निवासी खालवा, मांगीलाल कोरकू निवासी लंगोटी, दिनेश भिलाला निवासी आड़ाखेड़ा, भूरेलाल भिलाला निवासी आड़ाखेड़ा खालवा, सुनील निवासी रेहटी, भीम लोहार निवासी सुखरावद हरदा, समा लोहार निवासी हरदा, अर्जुन लोहार निवासी पुखरावद हरदा, सूरज शर्मा निवासी कुकरावद, नारायण बंजारा निवासी छीपाबड़, हेमराज बंजारा निवासी संदलपुर, मुकेश लोहार निवासी संदलपुर खातेगांव, लक्ष्मीनारायण राठौड़ निवासी खालवा, सुलीम निवासी बलवाड़ा, कल्लू बलाही निवासी पिपल्या भोजू, संजय बलाही निवासी पटाजन, जीतू कुंबी निवासी राजनी, गुलफान निवासी रेहटी (सिहोर), समीर कालू उर्फ कल्लू खान निवासी बलवाड़ा पिपलौद को गिरफ्तार किया गया।

आरोपियों से 39 लाख की सामग्री जब्त
आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने सोने-चांदी के आभूषण कीमती दो लाख, मोबाइल कीमती 11 हजार, आठ चार पहिया व एक बाइक कीमती 36.40 लाख, नकद 24950 और दस बैल व 12 केड़े कीमती करीब साढ़े 93 हजार रुपए बरामद किए गए हैं। इस प्रकार पुलिस ने कुल 39 लाख 69 हजार 550 रुपए कीमती सामान जब्त किया है। कार्रवाई में गाड़ी नंबर एमपी 47 जी 0682, एमपी 12 जीए 1890, एमपी 41 एलए 2481, एमपी 09 जीएफ 6187, एमपी 12 एलए 1428, एमपी 05 जी 7694, एमपी 47 जी 0753, एमपी 12 जीए 1328 को जब्त किया गया है।

गोवंश परिवहन के नहीं थे दस्तावेज
गिरफ्तार आरोपियों से पुलिस ने गोवंश परिवहन के संबंध में पूछताछ की लेकिन वह कोई भी दस्तावेज पेश नहीं कर पाए। उन्होंने बताया देवास जिले के खातेगांव सहित अन्य स्थानों से अलग-अलग वाहनों में गोवंश लेकर महाराष्ट्र जा रहे थे। इधर, गोवंश तस्करी की कार्रवाई में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है। बताया जा रहा है कि गोवंश तस्कर पुलिस से बचने के लिए तस्करी मार्ग के आसपास के ग्रामों के लोगों को शामिल किए हुए थे ताकि आसानी से वह तस्करी कर सके।