ग्रामीण क्षेत्रों में निस्तार के लिए हर विकासखण्ड के दस नदी-नालों का होगा चिन्हांकन – सिंहदेव

0
14

अम्बिकापुर
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज उदयपुर विकासखण्ड के ग्राम पंचायत खम्हरिया में आयोजित चौपाल में शामिल हुये। चौपाल को सम्बोधित करते हुये कहा कि वर्षा जल का संरक्षण कर ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक निस्तार हेतु उपयोग हो सके इसके लिए इस राज्य शासन द्वारा प्रदेश के हर विकासखण्ड में 10 नदी एवं नालों का चिन्हांकन कर पानी रोकने हेतु संरचना निर्माण की योजना बनायी जायेगी। उन्होंने कहा कि नदी-नालों का चिन्हांकन जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी कर्मचारी स्वयं करेगें और ग्रामीणों की जरूरत एवं सुझाव के आधार पर उपयुक्त स्थान पर आवश्यक संरचना का निर्माण कराया जायेगा। इन संरचनाओं के निर्माण से ग्रामीणों को निस्तार के लिए पानी की व्यवस्था हो सकेगी। सिंहदेव ने इस दौरान ग्राम पंचायत खम्हरिया के 245 हितग्राहियों नवीनीकृत राशन कार्ड का वितरण किया। इसमें 177 प्राथमिकता तथा 68 अंत्योदय कार्डधारी हितग्राही शामिल है। 

सिंहदेव ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार प्रदेश की जनता की हित में निरंतर विकास कार्यांे को आगे बढ़ाने का काम कर रही है। पिछले 9 महीने में अनेक किसान हितैषी तथा जन कल्याण के लिए अनेक फैसले लिए हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार के प्रयास किये जा रहे हैं, इसी तारतम्य में 102 एवं 108 एम्बुलंेस की समय पर नहीं पहुंचने तथा खराब रहने की स्थिति से निपटने के लिए करीब 300 नए एम्बुलंेस खरीदा जा रहा है। इन वाहनो को संचालित करने वाली कम्पनी की जिम्मेदारी होगी कि वह मरीज को घर से लेकर अस्पताल तक पहुंचाए। यदि एम्बुलंेस समय पर नहीं पहुंचता है तो मरीज निजी वाहन का प्रयोग कर सकते हैं और निश्चित किराया का भुगतान किया जायेगा। उन्होेंने बताया कि आपने वाले समय शासन की मंशा है कि एम्बुलंस कहां पर खड़ी है इसकी ऑनलाईन ट्रेकिंग की सुविधा भी लोगों को मिले। इस प्रकार की सुविधा होने से लोग अपने मोबाईल से ही एम्बुलंेस की लोकेशन का पता लगा सकेेगें। 

सिंहदेव ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश की सभी जनता को रियायती दर पर राशन उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है और उनका राशन कार्ड बनाने की कार्यवाही की जा रही है। इसके तहत बीपीएल परिवारों को 1 रूपये प्रति किलो की दर से तथा एपीएल परिवारों को 10 रूपये प्रति किलो की दर से 35 किलो चावल राशन दुकाने से मिलेगा। इसके साथ ही 5 रूपये प्रति किलो की दर से स्वादिष्ट चना और उत्तम गुणवत्ता के 2 किलो नमक निःशुल्क मिलेगा। इस प्रकार उन्होंने बताया कि आगामी 2 अक्टूबर से यूनिवर्सल पीडीएस सिस्टम लागू करने की तैयारी की जा रही है, जिसमें देश के किसी भी पीडीएस दुकान से राशन सामग्री ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सुविधा को विस्तार देने के लिए बैंक सखी योजना चलायी जा रही है। बैंक सखी हर सप्ताह ग्राम पंचायतों में पहुंचकर पेंशन की राशि, मनरेगा की राशि सहित जमा एवं आहरण के कार्य कर रहे हैं। बैंक सखी  बीमार, वृद्ध एवं दिव्यांग लोगों के घरों में पहुंचकर पेंशन की राशि दे रहे हैं। बैंक सखी शुरू होने से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को बैंक का चक्कर काटने से मुक्ति मिली है। इस अवसर पर जनपद पंचायत उदयपुर के अध्यक्ष राजनाथ सिंह, उपाध्यक्ष राजीव कुमार सिंह, विधायक प्रतिनिधि, सीएमएचओ, जनपद पंचायत के सीईओ सहित अन्य जनप्रतिनिधि अधिकारी कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।