घर की सुख-समृद्धि के लिए आज ही अपनाएं ये वास्तु टिप्स

0
9

पैसा एक ऐसी चीज़ है जिसके पास जितनी भी हो उसे वह कम ही लगती है। लेकिन कई बार इंसान फिजूल खर्च के चलते पैसों की बचत नहीं कर पाता है। आज हम आपको संपति को बढ़ाने के लिए वास्तु शास्त्र में बताए गए कुछ टिप्स के बारे में बताएंगे। जिन्हें अपनाकर व्यक्ति को धन लाभ हो सकता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार उत्तर दिशा कुबेर की होती है और इस दिशा को साफ रखने से धन लाभ होता है। वहीं घर के पूर्व-उत्तर कोने में अन्य देवी-देवताओं की शक्ति होती है और इसे ईशान कोण भी कहा जाता है औरक वास्तु के अनुसार अगर इन दो दिशाओं में कोई दोष न हो तो घर में पैसा आता है और वहां रहने वालों को धन-संपत्ति का लाभ भी होता है। तो चलिए जानते हैं वास्तु में बताई गई उन बातों के बारे में-

वास्तु के अनुसार घर की उत्तर दिशा वाली दीवारों का रंग नीला होना चाहिए।

घर में पानी का स्थान उत्तर दिशा में ही होना चाहिए और घर में पानी की टंकी में शंख, चांदी का सिक्का या चांदी का कछुआ रखें।

अगर आप घर में सजावटी सामान यानि एक्वेरियम को रखना हो तो उसके लिए उत्तर दिशा का चुनाव ही करें।
 
वास्तु में धन की दिशा उत्तर मानी जाती है तो घर में तिजोरी को रखने के लिए यही दिशा का चुनाव करना बेहतर होता है और इसके साथ ही उत्तर दिशा में नीले रंग का पिरामिड रखने से संपत्ति में बढ़ोतरी होती है।

धन में वृद्धि के लिए उत्तर दिशा में कांच का बड़ा बाउल रखें और उसमें चांदी के सिक्के डाल दें।

घर का मंदिर पूर्व-उत्तर कोने में ही होना चाहिए और भगवान गणेश और लक्ष्मी जी की मूर्ति रखकर पूजा करने से लाभ मिलता है।

कहते हैं कि घर के पूर्व-उत्तर कोने में गंदगी नहीं होनी चाहिए। इस दिशा को हमेशा साफ-सुथरा रखना चाहिए।

उत्तर दिशा में आंवले का पेड़ या तुलसी का पौधा लगाने से धन लाभ होता है।