जम्मू-कश्मीर में ऐक्टिव हैं 300 आतंकी, सर्दियों से पहले और घुसपैठ कराने की फिराक में पाकिस्तान

0
7

 
जम्मू

आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में करीब 200 से 300 आतंकवादी सक्रिय हैं। सीमा पर फायरिंग का सहारा लेकर पाकिस्तान कुछ और आतंकियों को घुसपैठ कराने की फिराक में है। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सर्दियों की शुरुआत से पहले पाकिस्तान ज्यादा से ज्यादा आतंकियों को जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ कराने की फिराक में है। उन्होंने कहा कि काउंटर इनफिल्ट्रेशन ग्रिड के ऐक्टिव होने के बाद भी बड़ी संख्या में आतंकी जम्मू-कश्मीर में सीमा पार से घुस आए हैं।

 सीमावर्ती पुंछ जिले के दौरे के वक्त डीजीपी ने रिपोर्ट्स को बताया, 'जम्मू-कश्मीर में फिलहाल 200 से 300 आतंकी सक्रिय हैं। आमतौर पर आंकड़ा एक सा नहीं रहता है और यह बदलता रहता है।' उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने घुसपैठ करने वाले आतंकियों की संख्या को बढ़ाने के लिए सीमा पर सीजफायर के उल्लंघन की घटनाओं में इजाफा किया है।

कश्मीर में बढ़ीं मेल-मुलाकातें, DGP बोले- शांति है

दिलबाग सिंह ने कहा, 'जम्मू और कश्मीर दोनों ही क्षेत्रों में पाकिस्तान की ओर से बड़े पैमाने पर सीजफायर का उल्लंघन किया जा रहा है। इंटरनैशनल बॉर्डर पर कनाचक, आरएसपुरा और हीरा नगर सेक्टर में सीजफायर की घटनाएं देखने को मिल रही है। वहीं एलओसी पर पुंछ, राजौरी, उरी, नांबला, करनाह और केरन सेक्टरों में पाकिस्तान घुसपैठ कराने की कोशिशों में हैं।'

सूबे की पुलिस के मुखिया ने कहा कि पाकिस्तान सर्दियों से पहले बड़ी संख्या में आतंकियों को घुसपैठ कराने के मकसद से सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। हमारी ऐंटी-इनफिल्ट्रेशन ग्रिड बेहद मजबूत है और घुसपैठ की तमाम कोशिशों को सफलतापूर्वक ध्वस्त किया गया है। हालांकि उन्होंने कहा कि इसके बाद भी बड़ी संख्या में आतंकियों के जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ करने की खबरें मिली हैं।