डीडीए देगा जमीन, बदले में हिमाचल से मिलेगा पानी

0
29

 
नई दिल्ली
 
दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने अपनी नई बसी कॉलोनियों में पानी की समस्या को दूर करने के लिए एक रास्ता निकाला है। इसके लिए डीडीए ने सीधे हिमाचल प्रदेश से हाथ मिलाया है। हिमाचल प्रदेश को डीडीए जमीन उपलब्ध करवाएगा और हिमाचल प्रदेश दिल्ली को अतिरिक्त पानी देगा। इस पानी में से एक तय शेयर डीडीए की नई कॉलोनियों को मिलेगा। 
 
सभी कॉमेंट्स देखैंअपना कॉमेंट लिखेंडीडीए के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश सरकार ने हिमाचल से दिल्ली आनेवाले लोगों के लिए एक अतिरिक्त भवन बनाने के लिए दिल्ली में जगह की मांग डीडीए से की है। डीडीए ने इस नए हिमाचल भवन के लिए द्वारका में एक जगह तय कर दी है। इस जगह का प्रस्ताव हिमाचल सरकार को दिया जा रहा है। इसके बाद अब हिमाचल सरकार अपने हिस्से में से दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) को पानी उपलब्ध कराएगी। इस पानी में से एक तय हिस्सा डीडीए की नई बनने वाली कॉलोनियों को उपलब्ध करवाया जाएगा। 

इस पानी के एवज में डीडीए हिमाचल प्रदेश सरकार को उसकी जरूरत के हिसाब से भूमि या प्लॉट उपलब्ध करवाएगी। बुधवार को इसी समझौते को लेकर एक अहम बैठक हिमाचल भवन में हुई। जिसमें हिमाचल सरकार के वरिष्ठ अधिकारी के अलावा डीडीए और डीजेबी ने भी हिस्सा लिया। 

गौरतलब है कि डीडीए की कॉलोनियों में पानी एक बड़ी समस्या है। ऐसे में लैंड पूलिंग पॉलिसी पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। डीडीए की नई हाउसिंग स्कीम के लिए भी अब तक पानी की व्यवस्था नहीं हो पाई है। जबकि पिछली हाउसिंग स्कीम में बने फ्लैट न बिकने की एक सबसे बड़ी पानी भी रही थी। पानी की व्यवस्था न होने की वजह से ही डीडीए को अपनी 2019 की हाउसिंग स्कीम को एक साल लेट भी करना पड़ा था। 

डीडीए के मुताबिक 2018 से 2022 तक डीडीए की प्लानिंग है कि हर साल औसतन 20 हजार फ्लैट्स उतारे जाएं। लेकिन पहली ही स्कीम के लिए पानी अभी तक नहीं मिल पाया है। डीडीए डीजेबी को भुगतान भी कर चुकी है, लेकिन पानी न होने की वजह से काम शुरू नहीं हो पा रहा है। ऐसे में आनेवाली स्कीमों के लिए भी यह संकट बड़ा हो सकता है। डीडीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह समझौता न सिर्फ डीडीए बल्कि दिल्ली और हिमाचल प्रदेश के लिए भी हितकारी है और इससे सभी को लाभ होगा।