तेज आंधी में टीन की छत के साथ झोली भी उड़ी, 200 मीटर दूर उछला मासूम, मौत

0
25

बड़वानी 
प्रदेश के कई इलाकों में बारिश हुई और तेज आंधी चली| जिससे कई जगह कच्चे मकानों की छत, टीन उड़ गई| इस दौरान प्रदेश के बड़वानी जिले के पाटी क्षेत्र के ग्राम वलन में एक बच्चे की मौत हो गई| तेज हवा के कारण एक मकान का टीन शेड उड़ गया। साथ ही टीन शेड से बंधी झोली भी उड़कर 200 मीटर दूर जाकर गिरी। परिजन उसे बचाने दौड़े, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। वलन निवासी सखाराम पिता आपसिंह का डेढ़ वर्षीय पोता विकेश पिता फुगरा झूला झूल रहा था।

जानकारी के मुताबिक लगातार गर्मी का सितम झेल रहे लोगों को बीती रात राहत मिली| प्रदेश के कुछ हिस्सों में धूल भरी आंधी और बूंदाबांदी से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। लेकिन इस दौरान तेज आंधी के कारण कई जगह कच्चे मकान की छत उड़ गई और बिजली के खम्बे, पेड़ गिरे| जिससे बिजली भी गुल रही| वहीं बड़वानी में हादसा हो गया, जिसमे एक डेढ़ साल के मासूम की मौत हो गई| पाटी थाना प्रभारी संतोष सावले ने बताया आंधी व बारिश के कारण मकान की चद्दर उड़ गई, जो झोली सहित 200 मीटर दूर जाकर गिरी। घटना में बच्चे की मौत हो गई। वहीं पूरा घर धराशायी हो गया। सखाराम की सूचना पर मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया है। इसी तरह मोरकट्टा क्षेत्र में भी बारिश व आंधी से कुछ मकान ढह गए। नगर में मंगलवार की शाम आंधी चलने के साथ ही बारिश हुई। करीब 2 घंटे तक चली इस आंधी में कई स्थानों पर बिजली के पोल टूट गए। वहीं घरों की चद्दरें उढ़ने के साथ ही दिवारे गिर गई। कुछ स्थानों पर पेड़ भी गिरे।   

मालवा-निमाड़ में कई स्थानों पर बुधवार को भी तापमान में गिरावट दर्ज की गई। बड़नगर के गांव पलदुना में बिजली गिरने से खेत में काम कर रहे सुरेश जोशी की मौत हो गई। रतलाम में भी बारिश हुई। तापमान में लगातार गिरावट होने लगी है, लेकिन गर्मी और उमस से अब भी राहत नहीं मिली है।  मौसम विभाग का कहना है कि उम्मीद है कि आने वाले दिनों में बारिश होगी, लेकिन तापमान में ज्यादा गिरावट नहीं आएगी। जब तक मानसून दस्तक नहीं देता है, तब तक पारे में उतार-चढ़ाव होता रहेगा|