देशभर में खाली हैं 5.4 लाख पुलिसकर्मियों के पद

0
8

नई दिल्ली
देशभर में पुलिसकर्मियों की संख्या काफी कम है। आकड़ों के मुताबिक, 1 जनवरी 2018 तक देश में 5.43 लाख पुलिसकर्मियों के पद खाली थे। इसमें से सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में 1.29 लाख पद खाली थे। वहीं, नगालैंड इकलौता ऐसा राज्य है, जहां पुलिसकर्मियों की संख्या मानक से ज्यादा है। ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट (बीपीआरडी) के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में 24,84,170 पुलिसकर्मियों की आवश्यकता है, जिसमें से 1 जनवरी 2018 को 19,41,473 ही पद भरे हुए थे।

जानकारी के मुताबिक, 1 जनवरी 2017 को पुलिसकर्मियों के कुल 5.38 लाख पद खाली थे जबकि 2018 में यह संख्या बढ़कर 5.43 लाख हो गई थी। 2016 में 5.49 लाख पद खाली थे। वहीं, देशभर में 2016 में 22,80,691, 2017 में 24,64,484 और 2018 में 24,84,170 पुलिसकर्मियों की जरूरत थी। हालांकि, 2016 में कुल 17,31,66 पुलिसकर्मी, 2017 में 19,26,247 पुलिसकर्मी और 2018 में 19,41,473 पुलिसकर्मी ही थे।

पुलिसकर्मियों कमी से जूझ रहे ज्यादातर राज्य
बीपीआरडी की पुलिस संस्था से जुड़ी हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिसकर्मियों की सबसे ज्यादा कमी उत्तर प्रदेश में है। इसके बाद बिहार में 50,291, पश्चिम बंगाल में 48,981, तेलंगाना में 30,345 और महाराष्ट्र में 26,196 पद खाली थे। (ये सभी आंकड़े 1 जनवरी 2018 तक के ही हैं।)

देश की राजधानी दिल्ली में भी पुलिसकर्मियों के 11,819 पद खाली थे। आपको बता दें कि दिल्ली में पुलिसकर्मियों की मानक संख्या आंध्र प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, केरल, ओडिशा और तेलंगाना जैसे राज्यों से काफी ज्यादा है। वहीं, उत्तर प्रदेश में पुलिसकर्मियों की मानक संख्या 4,14,492 है जबकि 1 जनवरी 2018 तक 2,85,540 पुलिसकर्मी ही कार्यरत थे। यानी की कुल 1,28,952 पद खाली थे।

बिहार में 1,28,286 पुलिसकर्मियों की आवश्यकता है जबकि 1 जनवरी 2018 तक सिर्फ 77,995 पुलिसकर्मी ही तैनात थे। नगालैंड पुलिस देश की इकलौती ऐसी पुलिस है, जहां पुलिसकर्मियों की संख्या मानक से 941 ज्यादा है। छत्तीसगढ़ में 11,916 पद, ओडिशा में 10,322 पद और जम्मू-कश्मीर में 10,044 पद खाली हैं।