नए आर्मी चीफ बोले, हम हैं तैयार, देश के दामन पर न आएगी आंच

0
36

नई दिल्ली
नए सेना प्रमुख बने जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने नैशनल वॉर मेमोरियल पर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। जनरल मुकुंद नरवाणे ने मंगलवार को ही सेना के मुखिया के तौर पर जिम्मेदारी संभाली है। सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद नए सेना चीफ ने देशवासियों को नए साल की बधाई दी। उन्होंने कहा कि आज सेना के चीफ की जिम्मेदारी संभालने पर मुझे गर्व है। यह कितना अहम प्रभार है, इसका भी मुझे अहसास है। मैं वाहेगुरु से कामना करता हूं कि इस जिम्मेदारी को संभालने के लिए मुझे साहस, शक्ति और बुद्धिमत्ता दे।

जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने कहा कि आज से नए दशक की शुरुआत हो रही है और उम्मीद है कि यह भारत की तरक्की का दशक होगा। उन्होंने कहा कि किसी भी देश की तरक्की के लिए सीमाओं की सुरक्षा भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि मैं देशवासियों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारी तीनों सेनाएं हर वक्त किसी भी चुनौती के लिए तैयार हैं और देश को महफूज रखने का भरोसा है। उन्होंने कहा कि थल सेना का हर जवान चौबीसों घंटे देश की सेवा में तत्पर है। अपनी प्राथमिकताओं के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता हर वक्त किसी भी चीज के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि देश के उत्तर और उत्तर पूर्व इलाके में सुरक्षा को पुख्ता करना हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि हमारा मानवाधिकार के मसले पर भी पूरा ध्यान है। सेना के सामने चुनौतियों और पीओके को हासिल के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम हर खतरे पर नजर रखते हैं। यह लगातार चलने वाली प्रक्रिया है। चीन के साथ सीमा के विवाद को सुलझाने की जरूरत है। हम सीमाओं पर शांति और सुरक्षा को कायम रखने में सफल रहे हैं।