पश्चिम बंगाल: सीबीडीटी ने कहा, दुर्गा पूजा समितियों को विभाग ने नहीं भेजा कोई नोटिस

0
9

कोलकाता
दुर्गा पूजा समितियों को आयकर नोटिस भेजने के मामले में सियासत शुरू हो गई है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नोटिस का विरोध करते हुए ऐलान किया कि मंगलवार को मध्य कोलकाता में आठ घंटे का धरना किया जाएगा। धरना शुरू हुआ, इसी बीच सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (सीटीबीटी) ने स्पष्ट किया कि मीडिया में जो खबरें चल रही हैं, वह पूरी तरह से गलत हैं। सीटीबीटी ने कहा कि इस वर्ष विभाग की ओर से दुर्गा पूजा कमिटी फोरम को किसी भी तरह की नोटिस भेजी ही नहीं गई है।

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज ने कहा, 'कोलकाता में दुर्गा पूजा कमिटियों को इनकम टैक्स की तरफ से नोटिस भेजी गई हैं, इस तरह की खबरें मीडिया में चल रही हैं। रिपोर्ट्स में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि दुर्गा पूजा कमिटी फोरम को पिछले कुछ हफ्तों में इनकम टैक्स नोटिस भेजे गए थे।' केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने कहा, 'यह स्पष्ट तौर पर बताया जा चुका है कि ये रिपोर्ट्स तथ्यात्मक रूप से पूरी तरह गलत हैं और इन्हें सिरे से खारिज किया जाता है। हकीकत यह है कि दुर्गा पूजा कमिटी फोरम को इस वर्ष विभाग की ओर से किसी भी तरह का कोई नोटिस नहीं भेजा गया है।'

स्पष्टीकरण के बाद ममता को झटका
बता दें कि तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने रविवार को घोषणा की थी कि बंग जननी ब्रिगेड (पार्टी की महिला शाखा) मंगलवार को सुबोध मलिक चौक पर धरने पर बैठेगी। बनर्जी ने कहा कि त्योहारों को कर वसूली से छूट मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आयोजकों, पूजा में हिस्सा लेने वाले श्रद्धालुओं और बांग्ला से प्यार करने वाले सभी लोगों को इस प्रदर्शन में हिस्सा लेना चाहिए। हालांकि, सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज के द्वारा दिए गए स्पष्टीकरण को ममता बनर्जी द्वारा केंद्र के खिलाफ छेड़े गए इस अभियान पर बड़ा झटका माना जा रहा है।