प्रशासन की संवेदनशीलता से बची वरूण की जान

0
39

भोपाल 
कोरोना संकट के इस दौर में राघौगढ़ में थैलीसीमिया बीमारी से ग्रस्त 14 वर्षीय वरूण चौकसे को अचानक रक्त की जरूरत हुई। वरूण को तत्काल रक्त न चढ़ाए जाने पर उसकी जान को खतरा हो सकता था। वरूण के पिता राधामोहन चौकसे ने राघोगढ़ के अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) से गुहार लगाई। इस अधिकारी ने तुरंत गुना कलेक्टर एस. विश्वनाथन को स्थिति से अवगत कराया। विश्वनाथन ने तुरंत एबी ग्रुप के रक्त की व्यवस्था कराई और गुना जिला अस्पताल में वरूण को ब्लड चढ़ाए जाने का इंतजाम किया। अब वरुण ठीक है। विकट परिस्थिति के बीच गुना जिला प्रशासन की मानवीय पहल की सर्वत्र सराहना की जा रही है।