फर्जी डाक्टर कर रहा मरीजो की जान से खिलवाड़ और लूट रहा मनमर्जी पैसे

0
75

पन्ना जिले के सलेहा कस्बे में तथाकथित डाक्टर वीरू वर्मा डेंटल क्लीनिक के नाम से मेंन रोड में अपनी दुकान सजाकर बैठा है। न कोई डिग्री न डिप्लोमा फिर भी कर रहा गंभीर बीमारियों का इलाज जब इस फर्जी डाक्टर वीरू वर्मा से इनकी चिकित्सा डिग्री के बारे में पूछा गया तो इन्होंने बताया कि मेरे पास कोई डिग्री नहीं है मैं पैसे कमाने के लिए क्लीनिक खोलकर बैठा हूँ। यह तथाकथित फर्जी डाक्टर आई वी फ्लूड लगाकर मरीजो से पैसा ऐंठते है साथ ही गंभीर बीमारियों को ठीक करने की ठेकेदारी लेकर हायर एंटीमलेरियल अर्टेसुनेट और आर्टीथेर इंजेक्सन के साथ हायर एंटीबायोटिक सेफटॉक्सिम और सेफ्ट्राइकजोंन जैसे इंजेक्सन का इस्तेमाल करते है।

न बीमारी का ज्ञान न दवाओं के डोज़ का ज्ञान फिर भी करता है मरीजो की जान से खिलवाड़–इस फर्जी डाक्टर ने किसी भी तरह की मेडिकल डिग्री हासिल नहीं की और एलोपैथी दवाओं का पूरा इस्तेमाल करता है। इन्हें दवाओं के डोज का भी कोई ज्ञान नहीं यह मरीजो को ओवर डोज देकर मरीजो की जान से खिलवाड़ करता है। यह स्टेरॉयड और सेडेटिव एंड हिप्नोटिक ड्रग्स का ओवर डोज़ देकर मरीज की जान से खिलवाड़ करते है और जमकर पैसा ऐंठते है 7-8 दिन इलाज करने के बाद जब यह डाक्टर मरीज से 7-8 हजार रूपये ऐंठ लेता है और मरीज की हालत गंभीर हो जाती है तो उसे सरकारी अस्पताल रेफर कर देता है।

गंभीर बीमारियों के साथ दांत के स्पेस्लिस्ट होने का करते है दावा–जब इस फर्जी डाक्टर वीरू वर्मा की क्लीनिक में मरीज बनकर पड़ताल की गई तो पता चला की यह गंभीर बीमारियों के इलाज का ठेका लेने के साथ साथ डेंटल स्पेस्लिस्ट बनकर दांतो का इलाज और दांतो के साथ पूरी बत्तीशी लगाने का ठेका लेते है। जब इस वीरू वर्मा नामक फर्जी डाक्टर से एक दांत लगाने की कीमत पूँछी गई तो उसका रेट इन्होंने 3000रु बताया और गारंटी से लगाने की बात कही। शासकीय नियमो के अनुसार चिकित्सा सेवा ब्यवसाय के लिए वैध डिग्री के साथ जिला चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय में पंजीयन अनिवार्य होता है जिस जिले में स्वास्थ्य सेवाएं देना है।

खबर के माध्यम से जिम्मेदार अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराया जा रहा है कि चिकित्सा जैसे संवेदनशील ब्यवसाय का मजाक बनाने वाले पन्ना जिले के सलेहा में फर्जी चिकित्सा ब्यवसाय करने वाले फर्जी डाक्टर वीरू वर्मा पर विधिसम्मत कार्यवाही सुनिश्चित करे ताकि आम जनता की जान से खिलवाड़ कर पैसे ऐंठने वालो को सबक मिल सके।