मंदी से निपटने के लिए केंद्र के साथ काम करने को तैयारः केजरीवाल

0
26

नई दिल्ली
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को मंदी से निपटने के लिए केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई। राजधानी के आंबेडकर यूनिवर्सिटी के दो नए कैंपस के शिलान्यास के मौके पर सीएम केजरीवाल ने कहा, 'आर्थिक मंदी चिंता का विषय है। आने वाले समय में केंद्र सरकार इस पर ठोस कदम उठाएगी। जो भी कदम वो उठाएगी दिल्ली सरकार पूरी मदद करेगी। साथ मिलकर हमें आर्थिक मंदी को दूर करना है।'

उन्होंने कहा कि आर्थिक मंदी खासतौर पर रीयल स्टेट, टेक्सटाइल इंडस्ट्री, ऑटो सेक्टर में नजर आ रही है। नौकरियां छिनने को लेकर मैं बहुत चिंतित हूं। केंद्र सरकार भी इसे लेकर चिंतित हैं, नीति आयोग ने इकनॉमी के कई पहलुओं को लेकर अवलोकन किया है। सभी राज्य सरकारों और केंद्र को इस पर मिलकर काम करना चाहिए।

धीरपुर विलेज में नए कैंपस की साइट पर लोगों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि अगले तीन सालों में आंबेडकर यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स की संख्या 3400 से बढ़कर 8000 हो जाएगी। यह दिल्ली के युवाओं के लिए अच्छी खबर है, क्योंकि युवाओं को क्वॉलिटी एजुकेशन मिलेगी। मैं यूनिवर्सिटी के अधिकारियों और पीडब्ल्यूडी को बधाई देता हूं और उनसे गुजारिश करता हूं कि कैंपस का काम जल्द से जल्द पूरा करें।

उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल के अंदर सरकारी स्कूलों का इंफ्रास्ट्रक्चर और वहां सीखने का माहौल में बड़ा बदलाव आया है। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट ने डीपीएस से अपना बच्चा सरकारी स्कूल में शिफ्ट कर दिया है। यह हमारे लिए सबसे बड़ी तारीफ है। उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार बनी थी, तो कॉलेजों में 1.1 लाख सीटें थीं, जो अब 1.5 लाख हो गई हैं। हर साल 2.5 लाख स्टूडेंट्स 12वीं पास करते हैं, हमें अभी और 1 लाख स्टूडेंट्स के लिए काम करना है। उन्हें जॉब मिल जाए, इसके लिए हम और वर्ल्ड क्लास स्किल सेंटर और स्किल बेस्ड कोर्स शुरू करने का प्लान कर रहे है।