महासचिव पद से इस्तीफा देने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले – संकट में है कांग्रेस

0
42

भोपाल
कांग्रेस महासचिव पद से हाल ही में इस्तीफा देने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया का कहना है कि पार्टी के लिए अभी कठिन हालात हैं. उन्होंंने कहा पार्टी अध्यक्ष पद से राहुल गांधी के इस्तीफ़े के बाद कांग्रेस में संकट की घड़ी है. सिंधिया ने कहा एमपी में  बीजेपी का कमलनाथ सरकार गिराने का मंसूबा मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह है.

मध्य प्रदेश में विधानसभा सेशन की सरगर्मी और राजनीतिक गहमागहमी के बीच कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया आज भोपाल पहुंचे.  यहां आते ही एयरपोर्ट पर मीडिया ने उन्हें घेर लिया और सवालों की झड़ी लगा दी.महासचिव पद से इस्तीफा देने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार भोपाल आए हैं.
 
राहुल गांधी इस्तीफे के बाद पार्टी के मौजूदा हालात पर ज्योतिरादित्य बोले – पार्टी के लिए ये संकट की घड़ी है. लेकिन हमें एकजुट रहकर कांग्रेस को मज़बूत करना है.राहुल जी के निर्णय के बाद पार्टी को मजबूत करना है और सभी कांग्रेसियों को एक साथ खड़ा होना पड़ेगा.राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में एक ऊर्जावान व्यक्ति की जरूरत है.जो रास्ता राहुल जी ने दिखाया है उसी रास्ते पर सब को मिलकर आगे चलना होगा.

मीडिया के पूछने पर सिंधिया ने कहा – बीजेपी मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार गिराने का  सपना देख रही है. लेकिन ये मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह है. वो अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाएगी.

कर्नाटक और गोवा के राजनीतिक संकट पर ज्योतिरादित्य ने कहा- बीजेपी लोकतंत्र की हत्या कर रही है. वो पहले भी ऐसा कर चुकी है. लेकिन कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस ही सत्ता में रहेगी. बीजेपी जब चुनाव सीधे तरीके से नहीं जीत पाती है तो वो दूसरे हथकंडे अपनाती है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ सरका के बजट को प्रदेश की उन्नति का बजट बताया.  उन्होंने कहा  अब इस पर चर्चा होना चाहिए कि जन आकांक्षाओं पर किस तरीके से खरा उतरा जाए.