‘मोदीजी की सेना’ पर सीएम योगी को चुनाव आयोग ने दी हिदायत

0
16

लखनऊ 
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से अपने भाषण के दौरान 'मोदी की सेना' शब्द का प्रयोग किया गया था। इस बयान के बाद राजनीतिक विवाद शुरू हुआ। मामले की निंदा करते हुए अब चुनाव आयोग ने भी योगी आदित्यनाथ को हिदायत दी है। साथ ही उन्हें एक वरिष्ठ राजनेता के नाते भविष्य में ऐसे शब्दों के इस्तेमाल पर सावधानी बरतने को कहा गया है। 
चुनाव आयोग द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है, 'रक्षा-प्रतिष्ठान देश की सीमा, सुरक्षा और राजनीतिक तंत्र के संरक्षक होने के साथ-साथ आधुनिक लोकतंत्र में अराजनीतिक एवं तटस्थ भागीदार हैं। इसलिए, यह आवश्यक है कि राजनीतिक दल और राजनेता अपने राजनीतिक अभियानों में सैन्यबलों का कोई भी संदर्भ देते समय बहुत सावधानी बरतें।' 

 
योगी ने कहा था 'मोदीजी की सेना'
सीएम योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद में एक चुनावी सभा में बीजेपी के लिए प्रचार करते हुए भारतीय सेना को 'मोदीजी की सेना' करार दिया था। विपक्षी नेताओं ने योगी पर हमला बोलते हुए उन पर सेना का अपमान करने का आरोप लगाया। 

चुनाव आयोग दे चुका है नसीहत 
आदित्यनाथ पर विपक्ष के हमलों के बीच चुनाव आयोग ने गाजियाबाद के जिला मैजिस्ट्रेट से इस मामले में रिपोर्ट तलब की ताकि यह पता लगाया जा सके कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की टिप्पणी से आचार संहिता का उल्लंघन हुआ है या नहीं। चुनाव आयोग राजनीतिक पार्टियों को पहले ही नसीहत दे चुका है कि वे लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान सैन्य बलों के मुद्दे पर कोई प्रचार या दुष्प्रचार नहीं करें।