राज्य में कोविड -19 के लिए टेलिफोनिक सलाह की सुविधा शीघ्र

0
45

रायपुर
कोरोना संक्रमण की वजह से लॉकडाउन की स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की विशेष पहल पर स्वास्थ्य विभाग, राज्य के मरीजों को घर बैठे चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से टेलिफोनिक सलाह (टेलीमेडिसिन)की सुविधा शुरू करने जा रहा है। इसकी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं ।आगामी दो-तीन दिनों में इसका लाभ राज्य के मरीजों को मिलने लगेगा। स्वास्थ्य विभाग यह सुविधा टोल फ्री नंबर 104 के माध्यम से मरीजों को उपलब्ध कराएगा। मरीजों को इसके माध्यम से कोविड-19 से संबंधित परामर्श के साथ ही अन्य बीमारियों के बारे में भी विशेषज्ञ चिकित्सकों का पैनल टेलीफोनिक सलाह देने के साथ ही व्हाट्सएप के माध्यम से दवाओं का प्रिसक्रिप्शन भी उपलब्ध कराएगा।

स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त संचालक डॉ त्रिपाठी ने बताया कि मरीजों को टेलीमेडिसिन की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए छत्तीसगढ़ राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने स्टेप वन संस्था से अनुबंध किया है इस संस्था के माध्यम से लगभग 600 विशेषज्ञ चिकित्सक मरीजों को टेलिफोनिक सलाह देने के लिए उपलब्ध होंगे, जिसमें लगभग 200 चिकित्सक छत्तीसगढ़ राज्य के हैं। टेलिफोनिक सलाह की सुविधा राज्य के मरीजों को 24 घंटे मिल सकेगी। यह सुविधा सहज रूप से मरीजों को उपलब्ध हो सके, इस को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने टोल फ्री नंबर 104 पर कॉल रिसीव करने और मरीजों की बीमारी की जानकारी लेकर उनकी काल को विशेषज्ञ चिकित्सक से कनेक्ट करने के लिए 60 प्रशिक्षित लोगों की ड्यूटी लगाई गई है। अभी तक 104 पर कॉल रिसीव करने वालों की संख्या 30 हुआ करती थी, जिसे बढ़ाकर 60 कर दिया गया है। स्टेप वन संस्था के पास 600 पंजीकृत चिकित्सक हैं ,जिसमें एमबीबीएस से लेकर एमडी, एमएस, एमडीएस, डीजीओ, डीएनबी, एमसीएच, एमआरसीपी आदि शामिल है ।छत्तीसगढ़  के चिकिसकों से स्टेप वन में पंजीयन कराने की अपील को देखते हुए अभी तक राज्य के 200 चिकित्सकों ने पंजीयन कराया है। राज्य के चिकित्सक स्टेप वन के लिंक बीआईटी डॉट एलवाय स्लैश हेल्प सीजी जीओवी पर अपना पंजीयन करा सकते हैं।