विधायक ने कहा- कांग्रेस का दखल ज्यादा, काम नहीं कर पा रही सरकार

0
19

 
नई दिल्ली 

कर्नाटक में पैदा हुए सियासी संकट के बीच ‘आजतक’ ने जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) और कांग्रेस के उन दो विधायकों से बात की है, जो राज्य की गठबंधन सरकार का साथ छोड़ और इस्तीफा देकर बेंगलुरु से मुंबई आ गए. 'आजतक' से खास बातचीत में जेडीएस विधायक नारायण गौड़ा ने कहा है कि वह इस्तीफा वापस नहीं लेंगे. वहीं कांग्रेस विधायक प्रताप गौड़ा पाटिल ने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो रहे हैं, और इस्तीफा देकर बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे.

जेडीएस विधायक नारायण गौड़ा ने कहा कि देवगौड़ा परिवार जेडीएस के विधायकों को परेशान करता है. आजतक से बातचीत के दौरान उन्होंने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाया. विधायक नारायण गौड़ा ने कहा कि सरकार इतना अच्छा काम नहीं कर पा रही है. हालांकि इसके लिए अकेले मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते, कांग्रेस की दखलअंदाजी बहुत ज्यादा है. साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर सीएम कुमारस्वामी को काम नहीं करने देने की बात कही है.

वहीं, कांग्रेस के विधायक प्रताप गौड़ा पाटिल ने खास बातचीत में कहा कि हमने इस्तीफा दे दिया है और बीजेपी में शामिल हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस्तीफा स्वीकार होने के तुरंत बाद हम बीजेपी ज्वॉइन करेंगे. उन्होंने कहा कि हम बीजेपी के टिकट से उपचुनाव लड़ेंगे. इस्तीफा स्वीकार होने के बाद ही बेंगलुरु वापस आएंगे. उन्होंने कहा कि अब उनकी किसी भी आश्वासन के बाद वापसी नहीं होगी.

गौरतलब है कि लंबे समय से कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार पर संकट के बादल छाए हुए हैं. शनिवार को कर्नाटक के सियासी संकट ने तब और विकराल रूप ले लिया जब कांग्रेस-जेडीएस के कुल 13 विधायकों ने इस्तीफा दिया. इन विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार की अनुपस्थिति में अपने इस्तीफे उनके निजी सचिव को सौंप दिए थे. अब विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार मंगलवार को इन विधायकों के त्याग-पत्रों पर गौर करेंगे.