विशेष पिछड़ी जनजातियों की 1.64 लाख से अधिक महिलाओं को आहार अनुदान योजना का लाभ

0
18

भोपाल

आदिम-जाति कल्याण विभाग द्वारा विशेष पिछड़ी जनजाति सहरिया, भारिया और बैगा परिवारों को कुपोषण की समस्या से मुक्त करने के लिये विशेष पोषण आहार योजना संचालित की जा रही है। योजना में प्रत्येक परिवार की महिला मुखिया के खाते में प्रतिमाह एक हजार रुपये की राशि विभाग द्वारा जमा कराई जा रही है। योजना में पिछले वित्त वर्ष में एक लाख 64 हजार 303 महिलाओं के बैंक खातों में 197 करोड़ 20 लाख रुपये की राशि जमा कराई गई।

राज्य सरकार ने योजना में इस वर्ष करीब 285 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। केन्द्र सरकार द्वारा मध्यप्रदेश की तीन जनजातियों को विशेष पिछड़ी जनजाति में अधिसूचित किया गया है। यह जनजाति बैगा, भारिया एवं सहरिया हैं। विशेष पिछड़ी जनजाति के विकास के लिये प्रदेश में राज्य स्तरीय अभिकरणों का गठन भी किया गया है।