ससुराल से लापता बेटी की तलाश में अदालत पहुंची मां, HC ने पुलिस से मांगा जवाब

0
30

बिलासपुर
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर हाई कोर्ट में एक मां ने अपनी शादी शुदा लापता बेटी की तलाश के लिए गुहार लगाई है. मां द्वारा लगाई गई बंदीप्रत्यक्षीकरण की याचिका पर गुरुवार को हाई कोर्ट चीफ जस्टिस के डिवीजन बैंच में सुनवाई हुई. सुनवाई के बाद हाई कोर्ट ने बिलासपुर पुलिस आईजी को इस मामले में जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं. पुलिस से शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं होने का हवाला देकर ये याचिका दायर की गई है. मामले की अगली सुनवाई की तारीख अभी तय नहीं है.

याचिका के अनुसार बिलासपुर में रहने वाली जूही ने कोनी थाना क्षेत्र के रहने वाले प्रकाश साहू से प्रेम विवाह किया था. कुछ सालों तक सब कुछ ठीक-ठाक चलता रहा. इसके बाद धीरे धीरे दोनों में विवाद शुरू हो गया. महिला ने अपने परिजनों को इसकी जानकारी दी. परिजनों ने प्रकाश को समझाइश दी. स्थिति में ज्यादा बदलाव फिर भी नहीं होने पर परेशान जूही ने महिला थाने में अपने पति सहित अन्य के खिलाफ प्रताड़ना की शिकायत दर्ज करवाई.

काउंसलिंग के बाद सुलह
जूहि की शिकायत पर महिला थाना पुलिस ने दोनों को बुलवाकर आपसी समझौता करवाया और पति अपनी पत्नी जूही को लेकर घर चला गया. कुछ दिन बाद मां ने बेटी जूही को कॉल किया तब किसी अन्य ने उसके फोन कॉल को रीसिव किया और जूहि के कहीं जाने का हवाला दिया. फिर उसके बाद दोबारा मां ने कुछ दिन बाद फोन किया. फिर भी बेटी से बात नहीं हुई. तब याचिकाकर्ता मां ने बेटी से मिलने की कोशिश की फिर भी उसका संपर्क अपनी बेटी से नहीं हो सका.

थाने में लापता होने की शिकायत
याचिका के अनुसार जूहि की मां ने कोनी थाना में जाकर बेटी के लापता होने की शिकायत की. शिकायत के बावजूद थाने से कोई कार्रवाई नहीं होने पर मां ने हाई कोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण की याचिका दायर की थी. प्रारंभिक सुनवाई करते हुए एक्टिंग चीफ जस्टिस प्रशांत मिश्रा के डिविजन बेंच ने पति प्रकाश साहू, कोनी थाना प्रभारी, एसपी सहित अन्य को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था. इसके बाद दो बार और सुनवाई हो चुकी है. अब बिलासपुर आईजी को जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं.