साड़ी पहनने के दौरान कहीं आप तो नहीं करतीं ये गलतियां?

0
6

शायद ही ऐसी कोई लड़की या महिला होगी जिसे साड़ी पहनना न भाता हो। यह खूबसूरत परिधान आज एक स्टाइल स्टेटमेंट बन चुका है। बॉलिवुड हो या फिर टॉलिवुड, हॉट दीवाज अब बढ़-चढ़कर साड़ियां पहनती हैं। अगर आप भी साड़ी पहनने की की शौकीन हैं, तो फिर जरूर इसे अपने वॉरड्रोब में शामिल कर लें।

साड़ी पहनना एक 'झंझट'
आपको किसी फंक्शन में जाना है या फिर ऑफिस के लिए निकलना है। प्लान बनाया है साड़ी पहनने का। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि साड़ी सही तरह से नहीं बंध पाती और हम चेक करते रहते हैं कि कहीं ज्यादा ऊपर तो नहीं हो गई? कहीं टेढ़ी तो नहीं बंधी? ऐसी स्थिति से बचने के लिए यहां कुछ ऐसी गलतियां बताई जा रही हैं जो आपको साड़ी बांधते वक्त बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए।

ज्यादा ऊंची या नीची साड़ी
कई महिलाएं ज्यादा ऊंची या फिर ज्यादा नीची साड़ी बांध लेती हैं। ऐसा करने से आपकी लेग लेंथ (टांगों की लंबाई) पर फर्क पड़ता है। साड़ी बांधने का सही तरीका है कि इसे आप नेवल से ठीक नीचे पहनें और पल्लू इसके सेंटर से घुमाकर कंधों पर लगाना चाहिए।

ज्यादा लूज या टाइट ब्लाउज
आपकी साड़ी बेहद सुंदर है, लेकिन अगर आपने उसके साथ इल-फिटेड ब्लाउज पहना है तो आपकी सारी मेहनत बेकार हो जाएगी। ज्यादा लूज या फिर ज्यादा टाइट ब्लाउज पहनने की वजह से आप तो असहज महसूस करेंगी ही साथ ही आपका ओवरऑल लुक भी अजीब लगेगा।

सही पेटीकोट का चुनाव करें
साड़ी के साथ ब्लाउज के अलावा सही पेटीकोट का चुनाव करना भी जरूरी है। पेटीकोट न तो बहुत ज्यादा लंबा हो और न ही छोटा। ज्यादा लंबा होने पर वह साड़ी की किनारी से बाहर दिखेगा और अगर ज्यादा छोटा हुआ तो फिर साड़ी का फॉल सही नहीं आएगा। अगर नेट वाली या फिर ट्रांसपैरंट साड़ी है तो फिर पेटीकोट और संभलकर खरीदने और कैरी करने की जरूरत है। पेटीकोट नेट से मैच करता हुआ हो और वह एक परफेक्ट फिट का हो ताकि साड़ी एकदम फ्लोइंग लगें।

सही साइज की ब्रा
साड़ी के साथ सही साइज और शेप की ब्रा भी बेहद जरूरी है। अगर ब्लाउज का गला डीप या ब्रॉड है तो फिर उसके हिसाब से अलग तरह की ब्रा आती हैं। बैकलेस ब्लाउज है तो फिर उसके लिए आप ट्रांसपैरंट स्ट्रैप वाली बैकलेस ब्रा पहन सकती हैं। नहीं तो ब्लाउज में ही पैड लगवा लें।

साड़ी में ज्यादा प्लीट्स बनाना
साड़ी में प्लीट्स एक खूबसूरत लुक देती हैं। लेकिन ज्यादा प्लीट्स काम भी खराब कर सकती हैं। कई महिलाएं साड़ी में ढेर सारी प्लीट्स बना लेती हैं जो सही नहीं लगतीं। एक साड़ी में 6 से 7 प्लीट्स ही होनी चाहिए।