सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमानगंज के लापरवाह अधिकारी एवं कर्मचारियो के विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाही

0
248

ए एन एम मीना ओमरे के विरुद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज करने सौपा ज्ञापन

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमानगंज में हुई प्रसूताओ की मौत का मामला

परिजनों ने लगाए लापरवाही और पैसे ऐंठने के आरोप

पन्ना – सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमानगंज में पदस्थ ए एन एम मीना ओमरे के विरुद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज करने के लिए मृतिका दीपा विश्वकर्मा के परिजनों ने पुलिस अधीक्षक पन्ना को एक लिखित शिकायती आवेदन पत्र सौंपा है।परिजनों ने लिखित शिकायत में आरोप लगाए है कि 10 सितंबर 2019 को सुबह 6 बजे गर्भवती दीपा विश्वकर्मा को अमानगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रसव हेतु भर्ती कराया गया ,स्वास्थ्य केंद में ड्यूटी कर रही नर्स मीना ओमरे द्वारा प्रसव कराने के लिए 1500 रु रिश्वत की मांग की गई हमारे पास 1100 रु थे जो नर्स को दे दिए गए पूरे रूपये न देने पर हम लोगो के साथ अभद्रता की गई और मीना ओमरे द्वारा इलाज में लापरवाही बरती गई जिस कारण प्रसूता की मौत हो गई।

*एक सप्ताह के अंदर 2 प्रसूताओं की मौत*

*एक ही नर्स पर फिर लगे पैसे लेने और लापरवाही के आरोप*
मुकेहा गाँव की रहनेवाली ममता चौधरी पति छोटेलाल का प्रसव कराने उसके परिजन अमानगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाये हुए थे तभी उसकी प्रसव के दौरान 14 सितंबर को मौत हो गई,मृतक महिला के परिजनों ने बताया कि मीना स्टाप नर्स के द्वारा प्रसव के दौरान बड़ी लापरवाही की गई और प्रसव कराने के लिए 2000रु की मांग भी की थी।
इस विषय में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमानगंज के बी एम ओ एवं एस डी एम भूपेंद्र रावत का कहना है कि मीना ओमरे के द्वारा लापरवाही हुई है और हमने उसको आज तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है इनसे यह दूषरी लापरवाही सामने आई है।

*लापरवाह अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही करने कलेक्टर हुए सख्त*

पन्ना जिले के
सीएचसी अमानगंज के लापरवाह अधिकारी एवं कर्मचारियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही ।
कलेक्टर कर्मवीर शर्मा द्वारा जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अमानगंज में विगत दिवस हुई प्रसूताओं की मृत्यु होने की जांच कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए थे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा चिकित्सकों द्वारा कार्य में की जा रही लापरवाही एवं दुव्र्यवहार की शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए श्रीमती मीना ओमरे स्टाफ नर्स सीएचसी अमानगंज को प्रसव कार्य में लापरवाही बरतने एवं प्रसव हेतु निर्धारित शासन के प्रोटोकाॅल्स का पालन न करने साथ ही परिजनों के द्वारा लगाये गये पैसे की मांग करने के आरोप के कारण प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। निलंबन काल में इनका मुख्यालय सीएचसी देवेन्द्रनगर रखा गया है। इसके साथ ही प्रातः कालीन ड्यूटी पर कार्यरत स्टाफ नर्स पुष्पा वर्मा को भी प्रसव कार्य में लापरवाही, मरीजों के साथ दुव्र्यवहार एवं प्रसव के निर्धारित प्रोटोकाॅल्स का पालन न करने के चलते कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। सीएचसी अमानगंज में लगातार प्रसव कार्य में बरती जाने वाली लापरवाही, अव्यवस्थाओं एवं चिकित्सकों के ड्यूटी समय पर उपस्थित न रहने के चलते डाॅ. अमित मिश्रा, खण्ड चिकित्सा अधिकारी अमानगंज को भी अव्यवस्थाओं के संबंध में कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए सुधारात्मक कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिये गये है तथा डाॅ. एम.के.गुप्ता के द्वारा ओपीडी समय पर ओपीडी में उपस्थित न रहते हुए घर पर मरीजों का उपचार करने, मरीजों के साथ दुव्र्यवहार करने एवं ड्यूटी के दौरान वार्ड में मरीजों का परीक्षण न करने के साथ सीएचसी अमानगंज में चल रही अव्यवस्थाओं के चलते इनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही करते हुए आगामी आदेश तक इनकी ड्यूटी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हरदुआ खमरिया में लगाते हुए दो वेतन वृद्धि रोके जाने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है।