सीबीएसई 10वीं परीक्षा में अब गणित की होंगी 2 परीक्षाएं, जानें नियम

0
23

 केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) 10वीं में 2020 से दो गणित की परीक्षा लेने जा रहा है। पहला बेसिक और दूसरा स्टैडर्ड गणित की परीक्षा होगी। इसकी जानकारी बोर्ड परीक्षार्थियों को 10वीं के रजिस्ट्रेशन के दौरान ही मांगी जा रही है। इसमें बोर्ड ने स्पष्ट कर दिया है कि जो छात्र 10वीं में बेसिक गणित पढ़ेंगे, वे 11वीं में गणित विषय नहीं पढ़ पायेंगे। ऐसे छात्रों को 11वीं में गणित पढ़ने के लिए 10वीं की कंपार्टमेंटल परीक्षा देनी होगी। बशर्तें कि छात्र 10वीं बोर्ड में बेसिक गणित में उत्तीर्ण हुए हों।

बोर्ड ने 10वीं के रजिस्ट्रेशन फार्म भरने के दौरान गणित का विकल्प मांगा है। जो छात्र गणित का विकल्प देंगे, उसी गणित विषय की उन्हें परीक्षा देनी होगी। बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक डा. संयम भारद्वाज ने बताया कि बेसिक गणित पढ़ने वाले छात्र प्लस टू में गणित नहीं ले पायेंगे। ऐसे छात्र अगर बेसिक गणित में अच्छे अंक प्राप्त कर लेते हैं और वे 11वीं में गणित लेना चाहते तो उन्हें इसके लिए जुलाई में होने वाले 10वीं कंपार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होना होगा। कंपार्टमेंटल परीक्षा में पास होने के बाद ही वे 11वीं में गणित ले पायेंगे। पहली बार सीबीएसई पास विषय में कंपार्टमेंटल देने का मौका दे रहा हैं।

 
सिलेबस एक, प्रश्न पत्र अलग
बेसिक और स्टैंडर्ड गणित के सिलेबस और किताब में बदलाव नहीं किया गया है। सिलेबस एक जैसा रहेगा। बस प्रश्न पत्र में बदलाव रहेगा। बेसिक गणित के प्रश्न हल्के और स्टैंडर्ड गणित के प्रश्न कठिन और कंसेप्ट बेस्ड रहेंगे। स्कूल की पढ़ाई के साथ बोर्ड परीक्षा में भी इसका ख्याल रखा जायेगा।

रुचि हो, तभी पढ़े गणित
बोर्ड ने छात्रों को निर्देश दिया है कि जब गणित में रुचि हो तभी गणित पढ़ें। जिन छात्रों को गणित में रुचि नहीं है और गणित में कमजोर हैं वे छात्र बेसिक गणित पढ़ेंगे। इन छात्रों को गणित  में उत्तीर्ण करवा दिया जायेगा।