सेना में 78,291 पद खाली, 3 साल में 2100 अफसरों ने छोड़ी नौकरी

0
30

नई दिल्ली

तीनों सेनाओं में अफसरों की कमी है तो वहीं दूसरी ओर सेना से सेवामुक्त होने का सिलसिला भी लगातार जारी है. पिछले तीन साल में तीनों भारतीय सेनाओं से 2100 अफसर स्वेच्छा से नौकरी छोड़ चुके हैं. राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि यह सही है कि 2016 से 2018 के बीच भारत की तीनों सेनाओं से कुल 2100 अधिकारियों ने स्वेच्छा से नौकरी छोड़ी है. वहीं, तीनों सेनाओं में कुल 78,291 पद खाली हैं. जिसमें से 9427 पद अफसरों के हैं.  

रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद नाइक ने बताया कि तीनों सेनाओं में भर्ती प्रक्रिया सामान्य और सुचारू तरीके से चल रही है. केंद्र सरकार की ओर से  सेना में अफसरों की कमी को पूरा करने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं. इसके लिए हम युवाओं को जागरूक कर रहे हैं. हम रक्षा प्रदर्शनी लगाते हैं, पब्लिसिटी कैंपेन चलाते हैं साथ ही अन्य मीडिया माध्यमों से प्रचार प्रसार भी करते हैं. राज्य रक्षा मंत्री श्रीपद नाइक ने बताया कि फिलहाल तीनों सेनाओं की पदोन्नति की प्रक्रिया को भी सुधार रहे हैं. इससे तीनों सेनाओं में रोजगार के मौके खुलेंगे.

 

साल    आर्मी    नेवी    एयरफोर्स

2016    353      138    186

2017    383      137    205

2018    412      102    184

भारतीय सेनाओं में 9427 पद अफसरों के लिए खाली हैं

रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद नाइक ने दूसरे सवाल के जवाब में बताया कि भारत की तीनों सेनाओं में अभी 78,291 पद खाली हैं. थल सेना में अफसरों के 50,312 पद हैं. इसमें से अभी 42,913 पदों पर ही अफसर हैं. यानी 7399 पद खाली हैं. नौसेना में अफसरों के 11,557 पद हैं. इसमें से अभी 10,012 पदों पर ही अफसर हैं, यानी 1545 पद रिक्त हैं. भारतीय वायुसेना में कुल 12,625 पद हैं, इनमें से सिर्फ 483 पद ही खाली हैं. यानी तीनों सेनाओं में कुल मिलाकर 9427 पद खाली हैं.

तीनों सेनाओं में निचले रैंक के कुल 68,864 पद खाली

राज्य रक्षा त्री श्रीपद नाइक ने बताया तीनों सेनाओं में पर्सनल बिलो ऑफिसर रैंक (PBOR) के कई पद खाली हैं. थल सेना में PBOR के लिए 12,23,381 पद हैं, इनमें से अभी 11,85,146 पदों पर जवान हैं. यानी 38,325 पर रिक्त हैं. वहीं, नौसेना में PBOR के लिए 74,046 पद तय हैं, जिसमें से 57,240 ही भरे हुए हैं. यानी 16,806 पद खाली हैं. भारतीय वायुसेना में PBOR के लिए 1,42,917 पद हैं. इनमें से 1,29,094 पद भरे हुए हैं. यानी 13,823 पद खाली हैं. इसके अलावा, 1718 पद एपीएस नॉन-रेगुलर जेसीओ और 10,486 जवान अभी सेनाओं के विभिन्न संस्थाओं में प्रारंभिक ट्रेनिंग कर रहे हैं.