सोनभद्र और संभल की वारदातों से यूपी में हड़कंप, एसपी-कांग्रेस ने योगी सरकार पर उठाए सवाल

0
71

 
लखनऊ 

उत्तर प्रदेश की कानून-व्‍यवस्‍था को चुनौती देने वाली दो वारदातों से पूरा प्रदेश दहल गया। सोनभद्र में बेखौफ दबंगों ने जमीन की खातिर दिनदहाड़े ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर दस लोगों की हत्‍या कर दी। उधर, संभल में घात लगाकर बैठे बदमाशों ने दो पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी और तीन कैदियों को छुड़ा लिया। राज्‍य विधानमंडल का मॉनसून सत्र शुरू होने से एक ही दिन पहले बुधवार को हुई इन वारदातों के बाद से सरकार और पूरा पुलिस महकमा ऐक्शन में है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने दोनों घटनाओं पर सख्‍त कार्रवाई के आदेश दिए हैं, वहीं विपक्ष ने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर हमला किया है। 
 
सभी कॉमेंट्स देखैंअपना कॉमेंट लिखेंदूसरी तरफ, संभल जिले में एक अन्य वारदात में अज्ञात बदमाशों ने दो पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या करके तीन कैदियों को छुड़ा लिया। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद के मुताबिक कुछ कैदियों को लेकर मुरादाबाद जा रही एक वैन को अज्ञात बदमाशों ने बनियाठेर इलाके में जबरन रोक लिया और सुरक्षा में तैनात सिपाहियों हरेंद्र और बृजपाल को गोली मार दी। इस वारदात में दोनों सिपाहियों की मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश पुलिसकर्मियों की राइफल और तीन कैदियों को साथ लेकर भाग गए। 

अज्ञात बदमाशों ने वारदात को दिया अजाम 
अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) पीवी रामाशास्त्री ने बताया कि मुरादाबाद की जेल से पेशी पर संभल जिले की चंदौसी स्थित अदालत लाए गए कुल 24 मुल्जिमों को वापस मुरादाबाद जेल ले जाया जा रहा था। रास्ते में शाम करीब 5 बजकर 20 मिनट पर बनियाठेर थाना क्षेत्र के धन्नूमल तिराहे के पास अज्ञात बदमाशों ने घात लगाकर इस वारदात को अंजाम दिया। 

मुख्यमंत्री योगी ने किया ऐलान 
मुख्‍यमंत्री योगी ने इस वारदात में शहीद हुए दोनों पुलिसकर्मियों के परिवारवालों को 50-50 लाख रुपये की सहायता और प्रत्येक शहीद पुलिसकर्मी की पत्नी को असाधारण पेंशन तथा परिवार के एक आश्रित को सरकारी नौकरी दिए जाने के भी आदेश दिए हैं। विधानमंडल का मॉनसून सत्र शुरू होने से ठीक एक दिन पहले कानून-व्‍यवस्‍था के सामने चुनौती पेश करती इन वारदातों ने विपक्ष को भी सरकार पर हमले का मौका दे दिया। समाजवादी पार्टी (एसपी) के प्रमुख एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सूबे की भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार पर अपराधियों के आगे नतमस्तक होने का आरोप लगाया। 

 अपराधियों के आगे नतमस्तक भाजपा सरकार में एक और नरसंहार! सोनभद्र में भू-माफियाओं द्वारा ज़मीन विवाद के अंदर 9 लोगों की हत्या दहशत एवं दमन का प्रतीक! सभी मृतकों के परिवारों को 20-20 लाख रुपए मुआवज़ा दे दोषियों पर सख़्त से सख़्त कार्रवाई करे सरकार।
अखिलेश और प्रियंका ने साधा निशाना 
अखिलेश ने ट्वीट कर कहा, 'अपराधियों के आगे नतमस्तक बीजेपी सरकार में एक और नरसंहार। सोनभद्र में भू-माफियाओं द्वारा जमीन विवाद में नौ लोगों की हत्या दहशत एवं दमन का प्रतीक।' उन्होंने वारदात में मारे गए सभी लोगों के परिवारवालों को 20-20 लाख रुपये मुआवजा देने के साथ-साथ दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग की। उधर, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस मामले को लेकर योगी सरकार पर हमला किया है। उन्होंने ट्वीट किया, 'बीजेपी राज में अपराधियों के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि दिन-दहाड़े हत्याओं का दौर जारी है। सोनभद्र में भू-माफियाओं द्वारा तीन महिलाओं समेत नौ गोंड आदिवासियों की सरेआम हत्या ने दिल दहला दिया।' प्रियंका ने कहा, 'प्रशासन-प्रदेश मुखिया-मंत्री सब सो रहे हैं। क्या ऐसे बनेगा अपराध मुक्त प्रदेश?'