स्वस्थ और समृद्ध छत्तीसगढ़ राज्य बनायेंगे: बघेल

0
16

मुंगेली। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ को स्वस्थ और समृद्ध राज्य बनायेंगे। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी योजना प्रारंभ की गई है। मुख्यमंत्री ने जिलेवासियों को आज कृषि उपज मण्डी प्रांगण मुंगेली में आयोजित कार्यक्रम में 62 करोड़ 91 लाख 55 हजार रूपए की लागत से 14 निर्माण एवं विकास कार्यो की सौगातें दी। इनमें 31 करोड़ 88 लाख 79 हजार रूपए की लागत से बनने वाले जल आवर्धन योजना का बटन दबाकर शिलान्यास किया तथा 95 लाख 93 हजार रूपए की लागत से बनने वाले 3 कार्यो का भी शिलान्यास किया तथा 30 करोड़ 6 लाख 73 हजार रूपए की लागत से नवनिर्मित 10 निर्माण कार्यो का लोकार्पण किया। श्री बघेल ने घर पहुंच पेंशन योजना का शुभारंभ किया तथा ग्राम सोढ़ार की श्रीमती शुकवारा ध्रुव को 300 रूपए वृद्धावस्था पेंशन नगद प्रदान किया। इसी तरह जिले के 69 हजार 441 हितग्राहियों को पेंशन मिलेगा। यादव समाज ने लाठी, खुमरी, कश्यप समाज ने हल और जायसवाल समाज के लोगों ने चांदी की मुकुट पहनाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल रिचार्ज करने के लिए प्रदेश में 1028 नालों के लिए कार्य योजना बनाई गई है। किसानों को फसल बचा पाना मुश्किल हो रहा था और जानवरों की वजह से सड़क दुर्घटना होती है इसलिए गौठान का निर्माण कराया जा रहा है। उन्होने किसानों से कहा कि कम्पोस्ट और वर्मी खाद का उपयोग करें ताकि कृषि लागत भी कम हो सकें। बाड़ी योजनांतर्गत 1 लाख 24 हजार परिवारों को बीज वितरण किया गया है। उन्होने कहा कि कुपोषण को दूर करने के लिए बस्तर, कोरिया एवं कोरबा जिले में बच्चों एवं महिलाओं गरम भोजन की शुरूआत की गई है। आगामी 2 अक्टूबर 2019 से पूरे प्रदेश में ग्राम पंचायतों के माध्यम से गरम भोजन दिया जायेगा, ताकि कुपोषण और एनीमिया से मुक्ति दिलाई जा सके।
पंचायत एवं ग्रामीण विकास एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि आज मुख्यमंत्री ने 31 करोड़ 88 लाख रूपए की लागत से बनने वाले जल आवर्धन योजना का शुभारंभ किया। शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल पहुंचाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होने कहा कि 17 दिसम्बर 2018 को मंत्री मण्डल में शपथ लिया था तब से 250 दिन में छत्तीसगढ़ सरकार ने 2500 रूपए में धान खरीदी, किसानों की ऋण मुक्ति सहित अनेकों उपलब्धियां हासिल की है। उन्होने कहा कि जिला चिकित्सालय मुंगेली के लिए सिटी स्कैन की स्वीकृति दी गई। प्रभारी मंत्री ने कहा कि मां-बहनों की परेशानी को देखते हुए सखी मित्र मितानीन के माध्यम से घर पहुंच पेंशन देने के लिए मुंगेली जिले की 350 ग्राम पंचायतों के लिए 116 मितानीनों को चिन्हांकित किया गया है। नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने कहा कि हमारे पूर्वजों ने समृद्ध छत्तीसगढ़ राज्य बनाने का सपना देखे थे जिसे पूरा करने का काम मुख्यमंत्री और उनके साथियों ने कर रहे है। उन्होने कहा कि देश में छत्तीसगढ़ का पहला मुख्यमंत्री है जो 82 प्रतिशत आरक्षण देने का काम किया है। नगरीय निकाय क्षेत्र में ''मोर जमीन मोर मकानझ्झ् के तहत मकान के लिए 4 लाख रूपए दिया जायेगा। उन्होने कहा कि 19 नवम्बर 2018 से पहले जमीन पर काबिज व्यक्ति को पट्टा दिया जायेगा। नगर पालिका मुंगेली में अम्बेडकर मंगल भवन के लिए 75 लाख रूपए देने की घोषणा की। गौठान निर्माण के लिए भी स्वीकृति दी।