IND vs AUS: जानें ‘द ओवल’ में कैसा है पिच और मौसम का मिजाज?

0
39

लंदन
भारतीय क्रिकेट टीम जब लंदन के केनिंग्टन ओवल मैदान पर आईसीसी ​विश्व कप 2019 के अपने दूसरे मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम से भिड़ेगी तो उसके सामने कंगारू टीम की लगातार 10 मैचों से चले आ रहे विजय अभियान पर रोक लगाने की चुनौती होगी। ऑस्ट्रेलियाई टीम का वनडे में हाल फिलहाल का प्रदर्शन लाजवाब रहा है। विश्व कप में आने से पहले कंगारू टीम ने भारत को उसके घर में हराने के बाद पाकिस्तान को भी पटखनी दी। ऑस्ट्रेलिया ने विश्व कप के अपने दोनों अभ्यास मैच जीते, जिसमें मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ एक जीत भी शामिल थी। इसके बाद विश्व कप के अपने शुरुआती दोनों मुकाबले जीतकर कंगारू अंक तालिका में शीर्ष पर काबिज हैं।

हालांकि, भारतीय क्रिकेट टीम भी आत्मविश्वास से लबरेज है। उसने विश्व कप के अपने पहले मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक मुश्किल विकेट पर 6 विकेट से शानदार जीत दर्ज की। जिसमें रोहित शर्मा ने अपने वनडे करियर की संभवत: सबसे शानदार शतकीय पारियों में से एक पारी खेली। भारतीय टीम फिलहाल बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण सहित खेल के तीनों विभागों में काफी संतुलित नजर आ रही है। इस बीच इंग्लैंड में बारिश कई मैचों को प्रभावित कर चुकी है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मुकाबले पर भी मौसम का असर पड़ सकता है। क्योंकि मौसम के हिसाब से पिच का व्यवहार भी बदलता है। तो आइए जानते हैं कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के ​बीच लंदन के केनिंग्टन ओवल ग्राउंड पर होने वाले विश्व कप के 14वें मुकाबले के लिए क्या है पिच और मौसम के बारे में भविष्यवाणी…?

मौसम की रिपोर्ट
ओवल में बीते कुछ दिनों में बारिश तो नहीं हुई है लेकिन 9 जून को दोपहर से शाम के बीच इसकी संभावना जताई गई है। केनिंग्टन ओवल में तापमान 15 से 17 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है। मौसम रिपोर्ट के मुताबिक ओवल में ह्यूमिडिटी यानी आर्द्रता (हवा में पानी की मात्रा या नमी) ’50s रहने की उम्मीद है। इस लिहाज से ओवल के आसमान में हल्के बादलों के छाए रहने की संभावना है। इस मौसम रिपोर्ट के हिसाब तेज गेंदबाजों के लिए खुशखबरी है।

पिच का मिजाज
केनिंग्टन ओवल मैदान पर हुए पिछले मैचों पर नजर डालने से पता चलता है कि यहां बल्लेबाजों की बल्ले-बल्ले रहती है। लेकिन अगर मौसम में बदलाव हो तो इस पिच पर गेंदबाजों के लिए भी मदद रहेगी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले मैच की वेदर रिपोर्ट के लिहाज से तेज गेंदबाजों के लिए इस पिच में काफी संभावना हैं। अगर धूप खिलती है तो बल्लेबाज रन भी बनाएंगे और बादल होने पर गेंदबाजों को स्विंग भी मिलेगा। इस लिहाज से हम भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक प्रतिस्पर्धि मुकाबला देख सकते हैं।