World Cup: आज होगी नंबर एक पर रहने की जंग, भारत को करना होगा यह कमाल

0
34

 
नई दिल्ली   
     
भारत और श्रीलंका के बीच आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 का मुकाबला आज दोपहर 3 बजे से लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर खेला जाएगा. पहले ही सेमीफाइनल में दूसरा स्थान पक्का कर चुकी भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ जीत से पॉइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंच सकती है, बशर्ते ऑस्ट्रेलिया पहले ही बाहर हो चुकी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अंतिम मैच में हार जाए. इसलिए शीर्ष स्थान और न्यूजीलैंड के खिलाफ संभावित सेमीफाइनल के लिए काफी मशक्कत होगी क्योंकि खतरनाक इंग्लैंड का सामना करना मुश्किल होगा.

भारत-ऑस्ट्रेलिया में टॉप पर रहने की जंग

ऑस्ट्रेलिया अभी 14 अंकों के साथ पहले स्थान पर है तो वहीं भारत 13 अंकों के साथ दूसरे पर. भारत अगर श्रीलंका पर जीत हासिल करता है तो उसके 15 अंक होंगे लेकिन अगर ऑस्ट्रेलिया भी अपना मैच जीत जाती है तो उसके 16 अंक होंगे और वह लीग दौर का अंत पहले स्थान के साथ करेगी.

जीत की लय के बावजूद मिडिल ऑर्डर अब भी भारत के लिए चिंता का विषय बना हुआ है और विराट कोहली की टीम श्रीलंका के खिलाफ होने वाले मैच में उम्मीद करेगी कि मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज सेमीफाइनल से पहले फॉर्म हासिल कर लें. भारत के लिए मिडिल ऑर्डर की पहेली अब भी अनसुलझी है और ऐसा दिखता है कि भारतीय टीम प्रबंधन अपनी योजना ‘ए’ पर ज्यादा निर्भर है जो उनके शीर्ष क्रम की सफलता है.

शानदार फॉर्म में रोहित

उप-कप्तान रोहित शर्मा 544 रन के साथ उनके सबसे सफल बल्लेबाज रहे हैं. उन्होंने इस दौरान रिकॉर्ड बराबरी वाले चार शतक भी जड़े. कप्तान कोहली के लिए भी यह वर्ल्ड कप अच्छा रहा है, हालांकि उनके स्तर के हिसाब से इतना बेहतरीन नहीं रहा और उनके नाम पांच अर्धशतक से 400 से ज्यादा रन हैं.

श्रीलंकाई ऑफ स्पिनर धनजंय डि सिल्वा काफी किफायती रहे हैं. दिमुथ करूणारत्ने अपने बाएं हाथ के स्पिनर मिलिंडा सिरीवर्धने को इस्तेमाल करना चाहेंगे. लेकिन श्रीलंका के खिलाफ मुकाबले को भारतीय टीम थोड़ा सहजता से ले सकती है और कुछ अन्य संयोजन आजमा सकती है जिसमें रवींद्र जडेजा को जोड़ना शामिल है.

केदार जाधव को मिल सकता है आखिरी मौका

अभी टीम से जुड़े मयंक अग्रवाल को छोड़कर जडेजा एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें वर्ल्ड कप में एक भी मैच खेलने को नहीं मिला है लेकिन श्रीलंकाई टीम में बाएं हाथ के अधिक खिलाड़ियों को देखते हुए इसकी संभावना नहीं दिख रही है.

हालांकि इससे कोहली और कोच रवि शास्त्री मध्यक्रम में केदार जाधव की वापसी करा सकते हैं क्योंकि वह ऑफ ब्रेक गेंद फेंकते हैं. पर दिनेश कार्तिक के लिए यह थोड़ा अनुचित होगा जिन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ पिछले मैच में ज्यादा गेंदों का सामना नहीं किया था.

विजय शंकर की जगह मयंक आ चुके हैं और उनके परम मित्र लोकेश राहुल दो अर्धशतक जड़कर रोहित के साथ शीर्ष क्रम में अपना स्थान सुनिश्चित कर चुके हैं. रोहित भी अपने पांचवें शतक की उम्मीद लगाए होंगे.

जसप्रीत बुमराह (14) की अगुवाई वाले तेज गेंदबाजी आक्रमण को मोहम्मद शमी (14 विकेट) का पूरा सहयोग मिला है और सेमीफाइनल से पहले इन्हें कुछ आराम देना आदर्श स्थिति होगी पर अंक तालिका में शीर्ष स्थान दाव पर लगा है तो कोहली कम से कम एक को तो मैदान पर उतारना ही चाहेंगे.